आईपीएल के 12वें संस्करण का खिताबी मुकाबला हैदराबाद स्थित राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला जा रहा है। फाइनल मुकाबले में मुंबई की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट पर 149 रन का स्कोर बनाया है। चेन्नई को मैच जीतने के लिए 120 गेंदों में 150 रन बनाने हैं। लेकिन बता दें कि लास्ट ओवर में कुछ ऐसा हुआ कि दर्शक चौंक गए।

READ ALSO: IPL 2019: टूर्नामेंट में हवाबाजी साबित हुई WC की ‘वर्कलोड मैनेजमेंट’ पॉलिसी 

दरअसल, हुआ कुछ यूं कि ड्वेन ब्रावो मुंबई इंडियंस की पारी का अंतिम ओवर डाल रहे थे। इस ओवर की पहली दो गेंदों पर पोलार्ड कोई रन नहीं बना सके। तीसरी गेंद पर भी पोलार्ड गेंद को बल्ले से टच नहीं कर सके। हालांकि, ऑफ स्टंप की बाहर की इस गेंद को पोलार्ड वाइड एक्सपेक्ट कर रहे थे। लेकिन अंपायर ने इसे लीगल डिलीवरी करार दिया। जिसके बाद कीरन पोलार्ड का पारा चढ गया।

 

पोलार्ड ने मुंह से तो शिकायत नहीं की, लेकिन अंपायर के डिसीजन का विरोध जताने के लिए वह ब्रावो की चौथी गेंद पर ऑफ स्टंप के वाइड मार्क पर स्टांस लेकर खड़े हो गए। फिर ब्रावो जब गेंद फेंकने के लिए आगे बढ़े तो पोलार्ड क्रीज से हट गए। पोलार्ड की इस हकरत पर अंपायरों ने आपत्ति जताई और उन्हें चेतावनी भी दे डाली। हालांकि पोलार्ड ने अंपायरों के साथ किसी भी प्रकार की अमर्यादित हरकत नहीं की और चुपचाप उनकी बात सुनते रहे। आखिरी दो गेंदों पर उन्होंने चौके जड़े और 41 रन बनाकर नाबाद लौटे।

पढ़ने के लिए डाउनलोड करें हमारा न्यूज एप। और देश-दुनिया की हर खबर से रहें अपडेट।  Live Hindustan पर। अपने मोबाइल पर Live Hindustanसभी खेलों से जुड़े समाचार पढ़ें सबसे पहले 

 



Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here