Indian Team Journey in U19 World Cup 2022: भारतीय टीम (India U19 Team) ने इंग्लैंड (England U19 Team) को हराकर अंडर-19 वर्ल्ड कप ट्रॉफी (U19 World Cup Trophy) अपने नाम कर ली है. इस वर्ल्ड कप के हर मैच की तरह इस मुकाबले को जीतने के लिए भी भारतीय टीम को ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी. भारतीय टीम ने 14 गेंद बाकी रहते ही 4 विकेट से इस मुकाबले को जीत लिया. फाइनल (U19 World Cup Final) में पहुंचने से पहले भारतीय टीम ने जो 5 मैच खेले थे, उनमें भी उसे एकतरफा अंदाज में जीत मिली थी. पढ़िए, भारतीय टीम का विजेता बनने का सफर..

वर्ल्ड कप का पहला मैच: भारतीय टीम अंडर-19 वर्ल्ड कप के ग्रुप-बी में थी. यहां उसका पहला मुकाबला दक्षिण अफ्रीका से था. इस मैच में भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 232 पर ऑलआउट हो गई थी. भारतीय गेंदबाजों ने टीम को मैच में वापसी कराई और दक्षिण अफ्रीका की टीम को महज 187 रन पर समेट दिया. भारत ने इस तरह वर्ल्ड कप सफर का अपना पहला मुकाबला 45 रन से जीता. इस मुकाबले के मैन ऑफ दी मैच विक्की ओस्तवाल रहे. उन्होंने अफ्रीकी टीम के 5 विकेट झटके थे.

दूसरा मैच: इस मैच से ठीक पहले भारतीय टीम के ऊपर कोरोना की गाज गिर चुकी थी. टीम के 5 खिलाड़ी कोरोना की चपेट में आकर दूसरे मैच की प्लेइंग इलेवन से बाहर हो चुके थे. भारत के पास मैच में उतारने के लिए सीमित विकल्प थे. हालांकि भारत की बेंच स्ट्रेंथ मजबूत थी और आयरलैंड के खिलाफ इस मुकाबले में टीम इंडिया ने 174 रन से विशाल जीत हासिल की थी. भारत ने पहले खेलते हुए 307 रन बनाए थे और बाद में आयरलैंड की टीम महज 133 रन पर सिमट गई थी. हरनूर सिंह को मैन ऑफ दी मैच चुना गया था. उन्होंने 88 रन की दमदार पारी खेली थी.

तीसरा मैच: युगांडा के खिलाफ हुए इस मुकाबले में भी भारत को सीमित विकल्पों के साथ ही उतरना पड़ा. इस मैच में राज बावा ने 108 गेंद पर ताबड़तोड़ 162 रन बनाए थे. ओपनर अंगकृष ने भी 144 रन की पारी खेली थी. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 405 रन जड़ डाले थे. जवाब में युगांडा की टीम महज 79 रन बना पाई थी. भारत ने यह मैच 326 रन से जीता था.

सुपर लीग क्वार्टर फाइनल: बांग्लादेश के खिलाफ हुए इस मुकाबले से पहले भारतीय टीम में सभी खिलाड़ी लौट चुके थे. इस मैच में भारतीय गेंदबाजों ने बांग्ला टीम को 111 रन पर ही समेट दिया था. जीत के लिए 112 रन का लक्ष्य भारत ने 5 विकेट खोकर हासिल कर लिया था. भारत के लिए इस मैच के नायक तेज गेंदबाज रवि कुमार रहे थे. रवि ने 14 रन देकर तीन विकेट झटके थे.

सेमीफाइनल मुकाबला: भारतीय टीम का वर्ल्ड कप सेमीफाइनल मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से था. यहां भारत ने पहले बैटिंग करते हुए कप्तान यश धुल के 110 रन की बदौलत स्कोर बोर्ड पर 290 रन टांग दिए थे. ऑस्ट्रेलिया की टीम इस लक्ष्य के आगे बौनी साबित हुई और केवल 194 रन पर ऑलआउट हो गई. भारत ने यह मैच 96 रन से जीता. यश धुल मैन ऑफ दी मैच रहे.

फाइनल मुकाबला: अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले में भारत का सामना इंग्लैंड से था. इंग्लैंड की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए एक वक्त 91 रन पर ही 7 विकेट गंवा दिए थे. आठवें विकेट के लिए इंग्लिश बल्लेबाजों ने 93 रन की साझेदारी की और टीम को 189 रन तक पहुंचाया. भारतीय टीम ने भी लक्ष्य का पीछा करते हुए एक समय 97 रन पर चार विकेट गंवा दिए थे. लेकिन राज बावा और निशांत संधु ने पांचवे विकेट के लिए 67 रन की साझेदारी की और भारत को जीत की राह पर लौटा दिया. भारत ने यह मैच 4 विकेट से जीता. राज बावा (35 रन और 5 विकेट) मैन ऑफ दी मैच चुने गए.

यह भी पढ़ें..

Bangladesh Premier League 2022: बीच मैदान में ही धुआं उड़ाने लगा यह खिलाड़ी, मैच अधिकारियों ने लगाई फटकार

IPL के पिछले सीजन में David Warner को था इस बात का दुख, बताई अपने मन की बात

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here