इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 में चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) को लीग राउंड के दौरान दूसरी बार दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। इस हार के बाद से सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की धीमी बल्लेबाजी के लिए काफी आलोचना हो रही है। धोनी ने 27 गेंदों का सामना किया और इस दौरान उनके बल्ले से कोई भी बाउंड्री नहीं निकली और उन्होंने महज 18 रनों की पारी खेली। मैच के बाद धोनी ने अपनी इस धीमी पारी को डिफेंड करते हुए कहा कि पिच पर रन बनाना आसान नहीं था और दिल्ली कैपिटल्स के बल्लेबाज भी इस मुश्किल का सामना करते दिखे।

धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘हम 150 के करीब पहुंचना चाहते थे। जब हमने शुरुआत में कुछ विकेट गंवा दिए थे, इसके बाद 15-16वें ओवर में हमारे पास अच्छा प्लैटफॉर्म था। हम रनों की रफ्तार को बढ़ा नहीं पाए। मुझे लगता है कि यह मुश्किल पिच थी। अगर हम 150 के करीब पहुंच पाते तो यह अच्छा स्कोर रहता। पिच एकदम से धीमी हो गई। बस आप अपने शॉट्स नहीं खेल पा रहे थे।’

धोनी ने आगे कहा, ‘दिल्ली के बल्लेबाजों को भी इस मुश्किल का सामना करना पड़ा था। लंबे गेंदबाजों को विकेट से मूवमेंट मिल रहा था। इसके बावजूद हम मैच को रोमांचक बना पाए। पहले छह ओवर में बहुत ज्यादा रन नहीं देना जरूरी था, पहले छह ओवर में एक महंगा ओवर था, लेकिन जब ऐसे बल्लेबाज होते हैं, तो इस तरह की चीजें होती हैं।’



Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here