नई दिल्ली: रोहित शर्मा की कप्तानी में (India vs Sri Lanka) भारतीय टीम ने घरेलू मैदानों पर एक और सीरीज पर आसानी से कब्जा कर लिया। श्रीलंका का बैटिंग में फिर से लचर प्रदर्शन नजर आया। नतीजतन टीम इंडिया ने दूसरे टेस्ट में 238 रन से मैदान मारा और सीरीज को 2-0 से अपने नाम किया। भारत की इस जीत में विराट कोहली (Virat Kohli sportsman spirit) की खूब चर्चा हो रही है, आइए जानते हैं पूरा मामला।

दरअसल, पूरी सीरीज में श्रीलंकाई बल्लेबाजी घुटनों पर नजर आई। किसी भी खिलाड़ी ने लड़ने का जज्बा नहीं दिखाया। मगर आखिरी टेस्ट के तीसरे दिन श्रीलंकाई कप्तान दिमुथ करुणारत्ने ने शानदार शतक से कुछ देर के लिए अपनी टीम की हार जरूर टाल दी। एक छोर से विकेटों का पतझड़ जारी थी, लेकिन दूसरे एंड पर करुणारत्ने जमे हुए थे। श्रीलंकाई कप्तान ने शतक जड़ा।

जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल और रविंद्र जडेजा जैसे घातक गेंदबाजों के सामने उनकी शतकीय पारी को विराट कोहली ने भी सराहा। 55वें ओवर में बुमराह को चौका मारकर जब करुणारत्ने ने शतक मारा तो कोहली भी खुद को ताली बजाने से रोक नहीं पाए। 92 बॉल पर उन्होंने भारत के खिलाफ पहली सेंचुरी जड़ी।

दिमुथ करुणारत्ने हालांकि अपनी टीम की हार नहीं टाल पाए। उन्होंने 174 गेंद पर नाबाद 107 रन बनाए, इस दौरान 15 चौके भी बल्ले से आए। वह भारत के खिलाफ शतक मारने वाले सिर्फ तीसरे श्रीलंकाई कप्तान बने।

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here