पूर्व कप्तान नासिर हुसैन टी-20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन के उस फैसले से खुश नहीं है, जिसमें मोर्गन ने कहा है कि बल्ले से खराब फॉर्म के कारण वह इस टूर्नामेंट के दौरान टीम की प्लेइंग इलेवन से खुद को बाहर रख सकते हैं। नासिर हुसैन का मानना है कि मोर्गन को आईसीसी इवेंट में बतौर लीडर काफी कुछ योगदान देना है। मोर्गन आईपीएल 2021 से ही बल्ले से खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। मोर्गन ने खुद को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखने का संकेत देते हुए कहा है कि वो टी-20 वर्ल्ड कप जीतने में अपनी टीम के आड़े नहीं आएंगे। इंग्लैंड को एकमात्र वर्ल्ड कप जिताने वाले मोर्गन ने सोमवार को भारत के खिलाफ वार्म-अप मैच में हिस्सा नहीं लिया। इस मैच में इंग्लैंड को 6 विकेट से मात मिली। लेकिन बुधवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले अभ्यास मैच में मोर्गन मैदान में उतरेंगे। 

पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने स्काई स्पोर्ट्स से बातचीत के दौरान सलाह देते हुए कहा कि इंग्‍लैंड को इयोन मोर्गन के साथ ही मैदान में उतरना चाहिए भले ही पिछले कुछ समय में बल्‍ले से उनका प्रदर्शन अच्‍छा नहीं रहा हो। हुसैन का मानना है कि मोर्गन ऐसे खिलाड़ी हैं, जो इस टूर्नामेंट में चमक सकते हैं। नासिर ने आईपीएल 2021 में कोलकाता नाइट राइडर्स टीम का हवाला देते हुए कहा कि केकेआर की टीम लीग के 14वें सीजन के पहले हाफ में निरंतर प्रदर्शन करने के लिए संघर्ष कर रही थी। लेकिन मोर्गन ने यूएई लेग में शानदार कप्‍तानी करते हुए टीम का भाग्‍य बदला और उसे फाइनल तक पहुंचाया। 

T20 World Cup: इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन खुद को टीम से बाहर करने को तैयार, कहा, टीम और वर्ल्ड कप के बीच में नहीं आऊंगा

हुसैन ने कहा, ‘इयोन मोर्गन को खेलना चाहिए और कप्‍तानी करना चाहिए। भले ही वो रन नहीं बनाए, लेकिन खेलें और कप्‍तानी करें। वह एक शानदार खिलाड़ी हैं, जो टूर्नामेंट में चीजें बदल सकते हैं और कभी भी फॉर्म में लौट सकते हैं। आपको सिर्फ आईपीएल फाइनल देखने की जरूरत है कि उनकी कप्‍तानी कितनी महत्‍वपूर्ण हैं। मोर्गन और एमएस धोनी-व्हाइट बॉल क्रिकेट के बेस्ट कप्‍तानों में से एक हैं। आईपीएल के पहले सीजन में केकेआर की हालत बहुत बुरी थी, लेकिन मोर्गन उस टीम को फाइनल तक लेकर गए।’

मोर्गन ने हाल ही बीबीसी ने कहा था, ‘मैं वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के आड़े नहीं आऊंगा। मेरे बल्ले से रन नहीं निकल रहे हैं लेकिन मेरी कप्तानी काफी अच्छी रही है।’ ये पूछे जाने पर कि क्या वो खुद को बाहर रखने के लिए तैयार होंगे, तो कप्तान ने कहा था, ‘ये हमेशा एक विकल्प होता है।’ वर्ल्ड कप 2019 के बाद से मोर्गन के बल्ले से रन नहीं निकल रहे हैं। इस साल उनकी मुसीबतें काफी बढ़ गई हैं। मोर्गन ने इस साल 7 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में 82 रन बनाए हैं। आईपीएल 2021 में केकेआर की कप्तानी संभालने वाले मोर्गन ने आईपीएल 14 में 11.08 की औसत से 133 रन बनाए।



Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here