उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमने अच्छी गति से रन बनाए, जज्बा और इरादा भी काफी अच्छा था इसलिए बदलाव की कोई जरूरत नहीं है, मेरे कहने का मतलब है कि आपको सुरक्षित रहते हुए अपना खेल दिखाने की जरूरत है।’’

अहमदाबाद| सूर्यकुमार यादव ने मंगलवार को संकेत दिया कि भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में 176 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए काफी जज्बा दिखाया और टीम भविष्य में इसी तरह की बल्लेबाजी करना जारी रखेगी।
भारत ने लक्ष्य को सिर्फ 28 ओवर में हासिल कर लिया।

सूर्यकुमार का साथ ही मानना है कि पहले बल्लेबाजी करना टीम के लिए बड़ी चुनौती नहीं है।

सूर्यकुमार ने वेस्टइंडीज के खिलाफ यहां होने वाले दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘ऐसा नहीं है, मुझे लगता है कि हमने चीजों को काफी सामान्य रखा। हम उसी तरह बल्लेबाजी जारी रखेंगे जैसे पिछले मैच में की, बस बात इतनी सी है कि जब हम पहले बल्लेबाजी करते हैं तो हमें मजबूत स्कोर बनाने के लिए अंत तक बल्लेबाजी करने का प्रयास करने की जरूरत है लेकिन मुझे लगता है कि पिछले मैच में हमने दूसरी पारी में जिस तरह बल्लेबाजी की, वह परफेक्ट था। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमने अच्छी गति से रन बनाए, जज्बा और इरादा भी काफी अच्छा था इसलिए बदलाव की कोई जरूरत नहीं है, मेरे कहने का मतलब है कि आपको सुरक्षित रहते हुए अपना खेल दिखाने की जरूरत है।’’
टी20 और एकदिवसीय प्रारूप में सूर्यकुमार ने तीसरे, चौथे,पांचवें और छठे नंबर पर बल्लेबाजी की है। वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में वह पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए।

उन्होंने कहा, ‘‘यह (पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करना) काफी अलग नहीं है, मैं सभी क्रम पर बल्लेबाजी करता रहा हूं और इसे लेकर लचीला हूं, इसलिए जहां टीम प्रबंधन फैसला करता है और चाहता है कि मैं बल्लेबाजी करूं मैं वहां बल्लेबाजी के लिए तैयार हूं।’’
सूर्यकुमार ने कहा कि टीम ने सभी विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया और वे इस प्रदर्शन को जारी रखने का प्रयास करेंगे।
दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा कि वह घर में भी काफी नेट सत्र में हिस्सा लेते हैं।
कई तरह के शॉट खेलने की अपनी क्षमता पर सूर्यकुमार ने कहा, ‘‘यह सब अभ्यास से आता है, मेरे कहने का मतलब है कि यह इतना मुश्किल नहीं है, मुझे पता है कि मुझे कुछ शॉट पर काम करना होगा, जिससे कि मैं रन बना सकूं। इसलिए मैं इस पर ध्यान लगा रहा हूं और धीरे धीरे नेट पर इस पर काम कर रहा हूं, घर में भी मैं मैच जैसी स्थिति में अभ्यास करता हूं और अभ्यास के साथ ये (शॉट) अपने आप आ जाते हैं।’’

पहले मैच से बाहर रहने के बाद लोकेश राहुल की टीम में वापसी पर टीम संयोजन के बारे में सूर्यकुमार ने कोई भी जानकारी देने से इनकार कर दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘आप गलत व्यक्ति से सवाल पूछ रहे हैं। उन्होंने (राहुल और मयंक अग्रवाल) ट्रेनिंग की और मुझे यकीन है कि पृथकवास पूरा करने के बाद वे टीम में वापसी करेंगे, इससे हमारी टीम मजबूत होगी और अंत में फैसला टीम प्रबंधन को करना है कि कौन खेलेगा और कौन नहीं, लेकिन उनकी वापसी से खुश हूं।’’
सूर्यकुमार ने कहा कि वह गेंदबाजी से भी योगदान देने को तैयार हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हां (मैं गेंद से योगदान दे सकता हूं), जब भी मुझे मौका मिलेगा, मैं गेंदबाजी करूंगा और मैं नेट पर नियमित रूप से गेंदबाजी करता हूं जब भी उन्हें (टीम प्रबंधन) लगता है वे मेरा इस्तेमाल कर सकते हैं, मैं हमेशा उपलब्ध हूं।’’
सूर्यकुमार ने कहा कि उन्हें तुलना करना पसंद नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे सूर्यकुमार यादव ही रहने दीजिए… बड़ी मुश्किल से मैंने भारत के लिए पांच-सात मैच खेले हैं लेकिन हां मैं प्रयास कर रहा हूं, जिस भी क्रम पर मुझे बल्लेबाजी का मौका मिलता है, मेरा लक्ष्य किसी भी स्थिति में टीम को जीत दिलाना होगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here