नई दिल्ली. एस श्रीसंथ (S Sreesanth) अब क्रिकेट की पिच पर खेलते हुए नहीं दिखेंगे. उन्होंने घरेलू क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया है. पिछले दिनों उन्हें फर्स्ट क्लास टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी के लिए केरल की टीम में जगह मिली थी. उन्होंने 9 साल बाद विकेट भी झटका था. आईपीएल 2022 (IPL 2022) की ऑक्शन लिस्ट में भी 39 साल के श्रीसंत को जगह मिली थी. लेकिन उन्हें किसी टीम ने नहीं खरीदा था. श्रीसंथ 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली और 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम इंडिया के सदस्य थे. लेकिन 2013 में उन पर आईपीएल के दाैरान स्पॉट फीक्सिंग के आरोप लगे. उन पर बीसीसीआई (BCCI) ने आजीवन बैन लगा दिया था. कोर्ट के आदेश के बाद सजा को कम करके 7 साल कर दिया गया था.

एस श्रीसंथ ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘आज मेरे लिए एक कठिन दिन है. लेकिन यह कृतज्ञता का दिन भी है. केरल, बीसीसीआई, वारविकशायर, भारतीय एयर लाइंस टीम और आईसीसी को धन्यवाद देना चाहता हूं. आईसीसी ने मुझे बड़ा सम्मान दिया. एक क्रिकेट खिलाड़ी के रूप में 25 साल के करियर के दौरान मैंने हमेशा प्रतिस्पर्धा, जुनून और दृढ़ता के उच्च मानक हासिल करने के प्रयास किए.’ उन्होंने 2005 में वनडे क्रिकेट से इंटरनेशनल डेब्यू श्रीलंका के खिलाफ किया था.

नई पीढ़ी के लिए लिया फैसला

उन्होंने आगे कहा कि परिवार, अपने साथियों और भारत के लोगों का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए सम्मान की बात है. दुख के साथ, लेकिन अफसोस के बिना मैं भारी मन से भारतीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले रहा हूं. एस श्रीसंथ ने लिखा कि नई पीढ़ी के लिए मैंने फर्स्ट क्लास करियर से संन्यास लेने का फैसला किया है. क्रिकेटर ने भारतीय क्रिकेट से संन्यास की बात कही है. ऐसे में वे विदेशी लीग में खेलते हुए दिखाई दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें: MCC के नियम से खेला जाता है क्रिकेट, 235 साल से है खेल पर इसका राज, ICC भी मानता है उसकी बातें

एस श्रीसंथ के इंटरनेशनल करियर को देखें तो उन्होंने 27 टेस्ट में 87, 53 वनडे में 75 और 10 टी20 में 7 विकेट. तेज गेंदबाज के फर्स्ट क्लास करियर को देखें ताे उन्होंने 74 मुकाबले 213 विकेट अपने नाम किए. वहीं ओवरऑल टी20 के 65 मैच में 54 विकेट झटके.

Tags: BCCI, Kerala, S Sreesanth, Team india

Source

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here