नई दिल्ली: टीम इंडिया ने श्रीलंका को मोहाली में खेले गए पहले टेस्ट मैच में पारी और 222 रनों से मात देकर दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है. इस मैच में टीम इंडिया के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने कहर मचाते हुए नाबाद 175 रन बनाए थे और 9 विकेट भी झटके थे. इस मैच में जब रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) टेस्ट क्रिकेट में अपने पहले दोहरे शतक से सिर्फ 25 रन दूर थे, तो टीम इंडिया (Team India) के कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने पारी घोषित कर दी. इस बात को लेकर बड़ा बवाल भी मच रहा है.

रोहित का सनसनीखेज खुलासा

रोहित शर्मा ने मैच के बाद सनसनीखेज खुलासा करते हुए बताया है कि आखिर कौन सा शख्स रवींद्र जडेजा के दोहरे शतक पूरा नहीं होने का जिम्मेदार था. रोहित शर्मा के मुताबिक इस मैच में रवींद्र जडेजा ने दिखाया कि वह कितने निस्वार्थ हैं. दरअसल, जब रवींद्र जडेजा टेस्ट क्रिकेट में अपने पहले दोहरे शतक से सिर्फ 25 रन दूर थे, तो टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने पारी घोषित कर दी. ये फैसला किसी और का नहीं बल्कि खुद रवींद्र जडेजा का था. 

ये शख्स था रवींद्र जडेजा के दोहरे शतक पूरा नहीं होने का जिम्मेदार

रवींद्र जडेजा ने ‘मैन ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड लेने के बाद कहा कि वह बल्लेबाजी या गेंदबाजी करते हुए आंकड़ों पर ध्यान नहीं देते हैं. जडेजा ने खुद साफ किया कि उन्होंने टीम प्रबंधन को पारी घोषित करने का सुझाव दिया था. इस मामले में जब रोहित शर्मा से पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘एक सवाल था कि पारी घोषित करना है या नहीं, यह टीम का फैसला था, जिसमें जडेजा की पूरी सहमति थी. ये दिखाता है कि वह कितने निस्वार्थ हैं.’

रवींद्र जडेजा ने मोहाली में मचाया कहर 

रवींद्र जडेजा ने अपने हरफनमौला प्रदर्शन से श्रीलंका के खिलाफ मोहाली में खेले गए पहले टेस्ट मैच में अकेले दम पर भारत को जीत दिला दी. रवींद्र जडेजा ने नाबाद 175 रन की पारी खेलने के साथ मैच में कुल 9 विकेट झटके, जिससे टीम श्रीलंका पर तीन दिन के अंदर पारी और 222 रनों की बड़ी जीत दर्ज करने में सफल रही. पहली पारी में 174 रन पर सिमटने के बाद श्रीलंकाई टीम दूसरी पारी में 178 रन पर सिमट गई.

तीन दिन में खत्म हो गया मैच

रोहित ने मैच के बाद कहा, ‘यह अच्छी शुरूआत थी. हमारे लिए यह क्रिकेट का शानदार मैच था. हमने सभी विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया. ईमानदारी से कहूं तो मैंने नहीं सोचा था कि यह ऐसा मैच होगा जो तीन दिन में खत्म हो जाएगा.’ उन्होंने कहा, ‘‘यह बल्लेबाजी के लिए अच्छी पिच थी, इसमें कुछ टर्न था और तेज गेंदबाजों को भी कुछ मदद मिल रही थी.’ रोहित ने कहा, ‘खिलाड़ियों को काफी श्रेय जाता है, उन्होंने बहुत अच्छी गेंदबाजी करते हुए दबाव बनाया और श्रीलंकाई बल्लेबाजों के लिये चीजें आसान नहीं होने दीं और लगातार अंतराल पर विकेट चटकाए.’

भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छे संकेत 

रोहित ने कहा, ‘भारतीय क्रिकेट के लिये अच्छा संकेत है. काफी सारे शानदार प्रदर्शन रहे, विराट कोहली के लिए उपलब्धि भरा टेस्ट रहा और हम सबसे पहले यहां आकर इस टेस्ट को जीतना चाहते थे. इस तरह के बड़े व्यक्तिगत प्रदर्शन को देखना शानदार है.’

जडेजा-अश्विन ने लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी

जडेजा ने जहां व्यक्तिगत उपलब्धि हासिल की तो रविचंद्रन अश्विन ने कपिल देव (131 मैच में 434 विकेट) को पीछे छोड़ दिया और अब 436 विकेट चटकाकर भारत के दूसरे सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाज हैं. अश्विन इस तरह अनिल कुंबले के 619 विकेट के रिकॉर्ड से पीछे हैं. वहीं, रोहित दूसरे भारतीय कप्तान बन गए हैं जिन्होंने कप्तानी की जिम्मेदारी संभालने के बाद पहले ही मैच में टीम को पारी से जीत दिलायी हो. पॉली उमरीगर पहले भारतीय कप्तान थे जिनकी अगुवाई में भारत ने 1955-56 में मुंबई में न्यूजीलैंड को पारी और 27 रन से पराजित किया था.

‘मैन ऑफ द मैच’ जडेजा पीसीए स्टेडियम को अपने लिये भाग्यशाली मानते हैं. उन्होंने साथ ही कहा कि वह बल्लेबाजी या गेंदबाजी करते हुए आंकड़ों पर ध्यान नहीं देते. जडेजा ने कहा, ‘मैं इसे अपने लिए भाग्यशाली मैदान कहूंगा. जब भी मैं यहां आता हूं, मुझे सकारात्मक अहसास होता है. मैं ऋषभ पंत के साथ भागीदारी की कोशिश कर रहा था, उसे स्ट्राइक देकर दूसरे छोर से उसकी बल्लेबाजी का लुत्फ उठा रहा था. ईमानदारी से कहूं तो मुझे किसी आंकड़े के बारे में नहीं पता.’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here