नई दिल्ली. झारखंड ने दिल्ली के खिलाफ रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy-2022) के ग्रुप-एच मुकाबले में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है. विराट सिंह की कप्तानी वाली टीम झारखंड ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक 5 विकेट खोकर 288 रन बना लिए हैं. इससे उसके पास कुल बढ़त 315 रन की हो गई है. स्टंप्स के समय कुमार सूरज 129 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे. उनके अलावा ओपनर नाजिम सिद्दिकी ने भी शतक जड़ा और 110 रन की पारी खेली. दिल्ली के गेंदबाज अपनी लय में नजर नहीं आए जिनमें अनुभवी ईशांत शर्मा (Ishant Sharma) और युवा पेसर नवदीप सैनी (Navdeep Saini) भी शामिल हैं.

अनुभवी पेसर ईशांत शर्मा ने अपने पहले स्पैल में एक विकेट झटका लेकिन 9 ओवर में कहीं भी दमदार नहीं दिखे जिससे झारखंड ने दिल्ली को मैच से बाहर करने की कगार पर पहुंचा दिया. झारखंड ने 3 अंक लगभग निश्चित कर लिए हैं. टीम शायद अंतिम दिन एक घंटे और बल्लेबाजी करेगी ताकि दिल्ली का महज 5 घंटे में लक्ष्य का पीछा करने का कोई भी मौका खत्म हो जाए.

इसे भी देखें, नवदीप सैनी का कमाल, विराट के शतक के बावजूद 251 रन ही बना सका झारखंड

अगर दिल्ली को एक अंक मिलता है तो वे केवल थ्योरी के हिसाब से ही बने रहेंगे क्योंकि छत्तीसगढ़ के खिलाफ मैच में बोनस अंक सहित 7 अंक भी उसे तमिलनाडु को पछाड़ने के लिए काफी नहीं होंगे. सुबह के सत्र में जोंटी सिद्धू (79) बायें हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम का पांचवां शिकार बने और दिल्ली की टीम 224 रन पर सिमट गई जिससे झारखंड केा 27 रन की महत्वपूर्ण बढ़त मिली. दिन के पहले सत्र में दिल्ली ने अच्छी वापसी की और झारखंड के 67 रन पर 4 विकेट झटक लिए जिसमें नवदीप सैनी और ईशांत ने शुरुआती स्पैल में अच्छी गेंदबाजी की.

नाजिम ने 177 गेंद खेलीं और 13 चौकों की मदद से 110 रन बनाए. वहीं, सूरज ने 17 चौके और 3 छक्कों की बदौलत नाबाद 129 रन बनाए. दोनों ने जब अच्छी साझेदारी बनाना शुरू किया तो दूसरे सेशन में दिल्ली के गेंदबाजों का असर कम होने लगा. नदीम की तुलना में बायें हाथ के स्पिनर विकास मिश्रा गेंदबाजी में सपाट दिखे. ईशांत ने फिर 2 और छोटे स्पैल डाले लेकिन वह लय में नहीं दिखे. वहीं टीम के ऑफ स्पिनर ललित यादव और नीतीश राणा भी रंग में नहीं दिखे.

वहीं एक अन्य मैच में तमिलनाडु की टीम ने पहली पारी 9 विकेट पर 470 रन पर घोषित करने के बाद छत्तीसगढ़ के स्टंप तक 257 रन पर 8 विकेट झटक लिए थे. छत्तीसगढ़ को फॉलोऑन से बचने के लिए अब भी 64 रन की दरकार है. उसके लिए कप्तान हरप्रीत भाटिया ने नाबाद 145 रन बनाए लेकिन उन्हें दूसरे छोर पर साथ नहीं मिला. अंतिम दिन तमिलनाडु अगर जीत जाता है तो उसे पूरे 6 अंक मिल जाएंगे और वह झारखंड के खिलाफ मैच से पहले 9 अंक लेकर शीर्ष पर पहुंच जाएगा. छत्तीसगढ़ ने पहला मैच जीता था जिससे उसे इस मैच को बचाने की जरूरत है जिससे वह 7 अंक से शीर्ष पर रहेगा.

Tags: Cricket news, Delhi cricket, Ishant Sharma, Navdeep saini, Ranji Trophy



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here