नई दिल्ली: आईपीएल 2022 का आगाज हो चुका है, दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग में इस बार भी एक से बढ़कर एक खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. सीजन की शुरुआत से पहले मेगा ऑक्शन भी कराया गया था जहां सभी टीमों ने जमकर खर्चा किया था और मजबूत टीम तैयार की थी. लेकिन लीग की शुरुआत से पहले सभी टीम कई खिलाड़ियों की चोट से परेशान थी तो कुछ खिलाड़ियों ने सीजन से ही बाहर होने का फैसला ले लिया था. खिलाड़ियों के बाहर हो जाने से टीमों की कैल्क्यूलेशन बिगड़ जाती है. ऐसे में बीसीसीआई बिना वजह आईपीएल छोड़ने वाले खिलाड़ियों पर लगाम कसने की तैयारी कर रही है.

BCCI लेगा ये बड़ा फैसला

आईपीएल में बिना कारण बाहर होने वाले खिलाड़ियों पर रोक लगाने के लिए बीसीसीआई एक नया नियम लाने पर विचार कर रहा है. ऑक्शन में मोटी रकम में बिकने के बाद टूर्नामेंट से पीछे हटने वाले विदेशी क्रिकेटरों की संख्या पिछले कुछ सालों में लगातार बढ़ी है. ऐसे में बीसीसीआई एक ऐसी नीति लाने के बारे में सोच रहा है, जो खिलाड़ियों को उचित कारण के बिना आईपीएल से बाहर होने से रोकेगी. गवर्निंग काउंसिल (जीसी) की हालिया बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा हुई.

गवर्निंग काउंसिल की बैठक में चर्चा

क्रिकबज की रिपोर्ट के मुताबिक आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल (जीसी) की हालिया बैठक में खिलाड़ियों द्वारा टूर्नामेंट से नाम वापस लेने के ट्रेंड को रोकने के तरीकों पर बहस हुई थी. जीसी के सदस्यों ने कहा था, ‘जीसी की फ्रेंचाइजियों के प्रति प्रतिबद्धता है, जो लीग के महत्वपूर्ण हितधारक हैं. वे काफी प्लानिंग के बाद एक खिलाड़ी के लिए बोली लगाते हैं, ऐसे में अगर कोई खिलाड़ी छोटे-छोटे कारणों से नाम वापस ले लेता है तो उनकी योजनाएं बिगड़ जाती है.’ रिपोर्ट्स के मुताबिक अब मामूली बातों पर बाहर होने वाले खिलाड़ियों को वॉच लिस्ट में डाला जा सकता है और उनपर कार्रवाई होगी. 

इस तरीके से होगी कार्रवाई

आमतौर पर चोटिल खिलाड़ी या अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने के लिए प्लेयर्स आईपीएल से हटने का फैसला लेते हैं, लेकिन हाल ही में खिलाड़ियों अन्य कारणों से भी टूर्नामेंट से बाहर हुए हैं. क्रिकबज की रिपोर्ट के मुताबिक एक सूत्र ने कहा, ‘ऐसी व्यापक नीति नहीं होगी कि आईपीएल से बाहर होने वाले सभी खिलाड़ियों को नश्चिति सालों के लिए आईपीएल में आने से रोका जाएगा. केस के आधार पर रिसर्च होगी और फैसला लिया जाएगा. पहले रिसर्च की जाएगी, ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या कारण सच में वास्तविक है या नहीं.’ अगर खिलाड़ी बिना कारण बाहर होगा तो उसे बैन भी किया जा सकता है.

जेसन रॉय ने IPL से नाम वापस लिया था

हार्दिक पांड्या की कप्तानी वाली टीम गुजरात टाइटंस को आईपीएल की शुरुआत से पहले एक बड़ा झटका लगा था. इंग्लैंड के धुरंधर ओपनर जेसन रॉय को गुजरात ने 2 करोड़ रुपये में खरीदा था. लेकिन बायो बबल का हवाला देते हुए रॉय आईपीएल से बाहर हो गए थे. रॉय के इस व्यवहार को देखते हुए इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने भी जेसन रॉय पर दो मैचों का बैन और 2,500 पाउंड का जुर्माना लगाया है. वैसे ये पहला मौका नहीं था यह दूसरी बार था जब जेसन रॉय ने आईपीएल से नाम वापस लिया है. आईपीएल 2020 में भी जेसन रॉय ने निजी कारणों से टूर्नामेंट छोड़ने का फैसला लिया था.



Source

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here