चीन की टेनिस स्टार पेंग शुआइ ने कहा कि, चीनी अधिकारी के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप नहीं लगाये थे और उनकी कुशलक्षेम को लेकिन दुनिया भर में चिंता ‘बड़ी गलतफहमी’ का नतीजा है।चीन के खेल अखबार ‘ल एक्विप’ में सोमवार को इंटरव्यू प्रकाशित हुआ है।

बीजिंग।चीन की टेनिस स्टार पेंग शुआइ ने फ्रांस के एक अखबार को बताया कि उन्होंने कभी चीनी अधिकारी के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप नहीं लगाये थे और उनकी कुशलक्षेम को लेकिन दुनिया भर में चिंता ‘बड़ी गलतफहमी’ का नतीजा है।
चीन के खेल अखबार ‘ल एक्विप’ में सोमवार को इंटरव्यू प्रकाशित हुआ है। अखबार ने कहा कि उसने एक दिन पहले बीजिंग के एक होटल में पेंग से एक घंटे तक बात की। चीन की ओलंपिक समिति ने यह इंटरव्यू लेने में मदद की।
इससे पहले अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने एक बयान में कहा कि आईओसी अध्यक्ष थॉमस बाक ने शनिवार को पेंग के साथ डिनर किया और उसने आईओसी सदस्य क्रिस्टी कोवेंट्री के साथ चीन और नॉर्वे का कर्लिंग मैच देखा।
अखबार ने कहा कि उसे सवाल पहले ही भेजने पड़े और चीन की ओलंपिक समिति के एक अधिकारी ने दुभाषिये की भूमिका निभाई।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान हॉकी की बदहाली पर इस ओलंपियन एथलीट ने उठाए सवाल, इमरान खान ने कर दिया 10 साल के लिए बैन

अखबार ने नवंबर में पेंग की उस सोशल मीडिया पोस्ट के बारे में पूछा जिसमें उन्होंने चीन के पूर्व उप प्रधानमंत्री और सत्तारूढ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के पोलितब्यूरो की स्थायी समिति के सदस्य झांग गाओली पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।
उसके बाद से पेंग सार्वजनिक रूप से नजर नहीं आई लेकिन सरकार द्वारा आयोजित कुछ प्रचार कार्यक्रमों में यदा कदा दिखी।
पेंग ने अखबार से कहा ,‘‘ यौन उत्पीड़न। मैने कभी ऐसा कुछ नहीं कहा। यह बहुत बड़ी गलतफहमी है। उस पोस्ट के अब कोई मायने नहीं निकाले जाने चाहिये।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here