लाहौर: कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) और इमाम उल हक (Imam-ul-Haq) के शतक और दोनों के बीच शतकीय साझेदारी से पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को गुरुवार को दूसरे वनडे में 6 विकेट से हरा दिया। यह उसकी लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी जीत है। ऑस्ट्रेलिया के 349 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान ने आजम (114) और इमाम (106) की पारियों से 49 ओवर में चार विकेट पर 352 रन बनाकर जीत दर्ज की।

इमाम ने आजम के साथ दूसरे विकेट के लिए 111 रन की साझेदारी के अलावा फखर जमां (67) के साथ भी पहले विकेट के लिए 118 रन की साझेदारी की। आजम ने 83 गेंद की अपनी पारी में 11 चौके और एक छक्का मारा जबकि इमाम ने 97 गेंद का सामना करते हुए छह चौके और तीन छक्के जड़े। इस जीत से पाकिस्तान ने तीन मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर कर दी।

ऑस्ट्रेलिया ने बेन मैकडर्मोट के करियर के पहले शतक और सलामी बल्लेबाज ट्रेविस हेड के साथ उनकी बड़ी शतकीय साझेदारी से आठ विकेट पर 348 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया था। अपना चौथा वनडे खेल रहे मैकडर्मोट ने 108 गेंद में 10 चौकों और चार छक्कों की मदद से 104 रन की पारी खेलने के अलावा हेड (70 गेंद में 89 रन, छह चौके और पांच छक्के) के साथ दूसरे विकेट के लिए 162 रन की साझेदारी की जिससे ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान की सरजमीं पर अपना सबसे बड़ा स्कोर खड़ा किया। इन दोनों के अलावा मार्नस लाबुशेन ने 59 जबकि मार्कस स्टोइनिस ने 49 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान के खिलाफ ही कराची में नवंबर 1998 में अपने पिछले दौरे पर सर्वाधिक आठ विकेट पर 324 रन बनाए थे। पाकिस्तान की ओर से तेज गेंदबाज शाहीन शाह अफरीदी सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 63 रन देकर चार विकेट चटकाए। मोहम्मद वसीम ने भी 56 रन देकर दो विकेट हासिल किए। टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरे ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत खराब रही और उसने मैच की तीसरी ही गेंद पर कप्तान आरोन फिंच (0) का विकेट गंवा दिया जिन्हें अफरीदी ने पगबाधा किया।

हेड और मैकडर्मोट ने इसके बाद पाकिस्तान के गेंदबाजों को 24 ओवर तक सफलता से महरूम रखा और इस दौरान तेजी से रन जुटाए। जाहिद महमूद ने हेड को अफरीदी के हाथों कैच कराके इस साझेदारी को तोड़ा। हेड के आउट होने के बाद मैकडर्मोट और लाबुशेन ने रन गति बरकरार रखी। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 74 रन की साझेदारी की। मैकडर्मोट ने खुशदिल शाह पर छक्के के साथ 102 गेंद में करियर का पहला शतक पूरा किया।

मैकडर्मोट हालांकि इसके बाद जल्द ही मोहम्मद वसीम का पहला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय शिकार बने। उन्होंने फुलटॉस पर हारिस राउफ को कैच थमाया। लाबुशेन भी अर्धशतक पूरा करने के बाद खुशदिल की गेंद पर पवेलियन लौटे। उन्होंने 49 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके मारे। स्टोइनिस और सीन एबट (16 गेंद में 28 रन) ने इसके बाद टीम का स्कोर 350 रन के करीब पहुंचाया। स्टोइनिस ने 33 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का मारा।

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here