IPL 2022: ट्रैफिक जाम, कोरोना टेस्ट और बॉयो-बबल के लिए ये सहायता देगी महाराष्ट्र सरकार

लेखन
नीरज पाण्डेय

Feb 27, 2022, 11:07 am
3 मिनट में पढ़ें


IPL ट्रॉफी

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के आगामी सीजन में टीमों को मुंबई की मशहूर ट्रैफिक जाम का सामना नहीं करना पड़ेगा। ट्रेनिंग के मैदानों से लेकर मैच खेलने के स्टेडियम तक आने पर खिलाड़ियों को कहीं भी ट्रैफिक में खड़े नहीं होना पड़ेगा।

महाराष्ट्र की सरकार ने आश्वासन दिया है कि वह खिलाड़ियों के लिए एक अलग ट्रैफिक लेन उपलब्ध कराएंगे। इसके अलावा भी सरकार ने कुछ और आश्वासन दिए हैं।

ट्रेनिंग, मैच के स्टेडियम और होटलों के बीच खिलाड़ियों को करनी है काफी यात्रा

बांद्रा में मौजूद मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) का मैदान और एक अन्य मैदान को ट्रेनिंग के इस्तेमाल में लाया जाएगा। ट्रेनिंग के मैदानों, मैच खेले जाने वाले स्टेडियमों और टीम के होटलों के बीच की दूरियों को देखते हुए BCCI को यह चिंता थी कि खिलाड़ियों को ट्रैफिक जाम से कैसे मुक्ति दिलाई जा सकेगी।

हालांकि, अब महाराष्ट्र सरकार द्वारा खिलाड़ियों के आवागमन के लिए एक अलग रोड कॉरिडोर उपलब्ध कराने के आश्वासन से बोर्ड की चिंता कम हुई है।

BCCI और MCA के साथ हुई आदित्य ठाकरे की बैठक

MCA के चेयरमैन मिलिंद नार्वेकर ने बताया कि उन्होंने BCCI के साथ बैठक की थी और इस बैठक में महाराष्ट्र सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे।

उन्होंने आगे कहा, “सफल IPL के आयोजन के लिए BCCI को महाराष्ट्र के सरकार से पूरा सहयोग मिलेगा। दर्शकों के आने को लेकर फैसला मुख्यमंत्री लेंगे।”

आदित्य ठाकरे ने बात करते हुए यह जानने की कोशिश की कि उन्हें टूर्नामेंट के दौरान क्या सहयोग चाहिए होंगे।

25 प्रतिशत दर्शकों को मिल सकती है मैदान में आने की छूट

ऐसी उम्मीद की जा रही है कि महाराष्ट्र की सरकार मैचों के लिए स्टेडियम की 25 प्रतिशत क्षमता तक के फैंस को आने की छूट दे सकती है। इस बार 10 टीमों के टूर्नामेंट खेल रहे होने के कारण BCCI एक फाइव स्टार होटल में दो टीम को ठहरा सकती है।

इसके अलावा राज्य सरकार आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने और टूर्नामेंट के लिए बायो-बबल बनाने में भी बोर्ड को पूरा सहयोग देगी। मुंबई में कुल मिलाकर 55 मैच खेले जाने हैं।

मुंबई और कोलकाता के बीच होगा पहला मैच

मुंबई इंडियंस (MI) और कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के बीच 26 मार्च को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में सीजन का पहला मैच खेला जाएगा। पुणे में भी सीजन के 15 मैच खेले जाने हैं।

इस बार टीमों को दो ग्रुपों में बांटा गया है। सभी टीमें पांच टीमों के खिलाफ दो-दो मैच खेलेंगी तो वहीं अन्य चार टीमों के खिलाफ एक-एक मैच खेले जाएंगे। दो मैच होम और दो अवे ग्राउंड में खेले जाएंगे।

इस खबर को शेयर करें



Source

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here