मुंबई:

कप्तान लुसियन गोइयन के शानदार गोल के दम पर दो बार की चैंपियन चेन्नइयन एफसी ने शुक्रवार को यहां मुंबई फुटबाल एरेना में खेले गए मुकाबले में मुम्बई सिटी एफसी को 1-0 से हराकर हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के छठे सीजन के प्लेऑफ में प्रवेश कर लिया. इस जीत से चेन्नइयन के 17 मैचों से 28 अंक हो गए हैं और प्लेऑफ में पहुंचने वाली चौथी और अंतिम टीम बन गई है. उससे पहले एफसी गोवा, एटीके और बेंगलुरू एफसी पहले ही प्लेऑफ में पहुंच चुकी हैं. वहीं, इस हार के बाद मुम्बई सिटी प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गई है.

मुम्बई का लीग चरण में यह आखिरी मैच था जबकि चेन्नइयन को अभी लीग चरण में अपना अंतिम मैच अगले सप्ताह नॉर्थईस्ट युनाइटेड एफसी के खिलाफ खेलना है. आईएसएल में अपना 100वां और घर में अपना 50वां मैच खेलने उतरी मुम्बई सिटी और चेन्नइयन के बीच पहले हाफ में कम ही मौके देखने को मिले क्योंकि दोनों ही टीमों का डिफेंस काफी मजबूत रहा. चेन्नइयन ने पहले मिनट में ही एक मौका बनाया. राफेल क्रिवेल्लारो बॉल को लेकर बॉक्स की ओर बढ़े, लेकिन प्रतीक चौधरी ने इसे क्लीयर कर दिया.

ये भी पढ़ें- FIH Pro League: ऑस्ट्रेलिया ने रोमांचक मुकाबले में भारत को 4-3 से हराया

वहीं, 15वें मिनट में मेजबान मुम्बई ने पेनाल्टी की मांग की, जिसे खारिज कर दिया गया. इसके बाद उसने 25वें मिनट में एक बड़ा हमला बोला. डिएगो कार्लोस ने अमिने शेरमिति को एक सुपर क्रॉस दिया, लेकिन अमिने अपने हेडर के जरिए बॉल को गोलपोस्ट में डालने का बड़ा मौका चूक गए. इसके दो मिनट बाद ही मेजबान टीम के गोलकीपर और कप्तान अमरिंदर सिंह चोटिल हो गए और उन्हें चिकित्सा सुविधा देनी पड़ी. मुम्बई के 41 प्रतिशत के मुकाबले 59 प्रतिशत बॉल पजेशन अपने पास रखने के बावजूद चेन्नइयन एक भी शॉट टारगेट पर नहीं लगा पा रही थी.

40वें मिनट में अनिरुद्ध थापा और मोदोउ सोगोउ आपस में टकराकर चोटिल हो गए और एक बार फिर से मेडिकल स्टाफ को मैदान पर आना पड़ा. तीन मिनट बाद ही चेन्नइयन के सीजन के टॉप स्कोरर नेरिजुस व्लास्किस गोल करने का एक सुनहरा अवसर खो बैठे और उनका शॉट आफसाइड चला गया. पहले हाफ में चार मिनट का अतिरिक्त समय भी जोड़ा गया, लेकिन दोनों ही टीमें अपना खाता नहीं खोल पाईं. पहला हाफ गोलरहित रहा.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज दानिश कनेरिया ने शिवरात्रि पर की भगवान शिव की पूजा, वायरल हुआ वीडियो

घर में पिछले तीन मैचों में तीन जीत दर्ज करने वाली मुम्बई इस मैच में भी कुछ इसी लक्ष्य के साथ दूसरे हाफ में उतरी. लेकिन 54वें मिनट में उसे उस समय एक बड़ा झटका लगा जब उसके मिडफील्डर सौरभ दास को रेड कार्ड दिखाया गया. सौरभ को रेड कार्ड मिलने के बाद मुम्बई को अब अपने 10 खिलाड़ियों के साथ ही प्लेऑफ की संघर्ष को जारी रखना पड़ा. सौरभ से पहले 50वें मिनट में मेहमान चेन्नइयन के जैरी लालरिंजुआला और 52वें मिनट में विशाल कैथ येलो कार्ड दिखाया गया.

अपने 10 खिलाड़ियों से खेलने के बावजूद मुम्बई सिटी मुकाबले में बेहतर लग रही थी और 67वें मिनट में उसके पास अपना खाता खोलने का शानदार अवसर आया. लेकिन इस बार भी शेरमिति के हाथ से ही अवसर निकल गया और उनका शॉट आफसाइड चला गया. मेजबान टीम के हमलों के बाद चेन्नइयन ने भी 77वें मिनट में एक बड़ा हमला बोला. जर्मनप्रीत सिंह ने शानदार शॉट लगाया, लेकिन मुम्बई के कप्तान और गोलकीपर अमरिंदर ने बेहतरीन सेव करके अपनी टीम को मुकाबले में बनाए रखा.

चेन्नइयन ने हालांकि अपना आक्रमण जारी रखा और आखिरकार 83वें मिनट में जाकर उसने अपना खाता खोल लिया. मेहमान टीम के लिए यह गोल कप्तान लुसियन गोइयन ने किया. इस गोल में चेन्नइयन के टॉप स्कोरर व्लास्किस का भी असिस्ट रहा. मुम्बई सिटी के पूर्व कप्तान लुसियन का यह गोल चेन्नइयन के लिए प्लेऑफ में पहुंचने के लिए काफी था. लुसियन के गोल के बाद और कोई गोल नहीं हो सका और मुकाबला इंजुरी टाइम में चला गया, जहां चेन्नइयन ने अपनी बढ़त को कायम रखते हुए प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की कर ली. पूर्व चैंपियन चेन्नइयन की पिछले सात मैचों में यह छठी जीत है.



Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here