नई दिल्ली: दुनिया की दो दिग्गज शख्सियतें मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) और जेफ बेजोस (Jeff Bezos) एक बार फिर आमने-सामने होंगे। इस बार दोनों की जंग भारत के IPL किक्रेट मैचों के मामले में होगी। इस हफ्ते, भारतीय क्रिकेट लीग ने मीडिया अधिकारों की नीलामी के लिए दिशानिर्देशों को अनवील किया और ऐसा लगता है कि वे बोली और तनाव बढ़ाने के लिए डिजाइन किए गए हैं। पहली बार टेलीविजन पर मैचों के प्रसारण और उन्हें ऑनलाइन स्ट्रीम करने के अधिकार अलग से बेचे जाएंगे। इससे Amazon.com Inc. और इसकी प्राइम वीडियो सेवा के लिए द्वार खुल जाएगा। अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) भी इन अधिकारों को पाने के लिए दृढ़ है।

इसके अलावा, क्रिकेट प्रतियोगिता दो दिनों के दौरान ऑनलाइन लाइव होगी, जिसका अर्थ है कि दोनों व्यक्तियों के लिए प्रॉक्सीज को मिनट-दर-मिनट बोलियां और रियल टाइम में काउंटरबिड करना होगा। BCCI ने मंगलवार को IPL सीजन 2023-2027 के मीडिया राइट्स के लिए टेंडर जारी किए हैं। मीडिया राइट्स के लिए ई-नीलामी 12 जून से शुरू होगी। नीलामी में शामिल होने के लिए 10 मई तक नॉन-रिफंडेबल 25 लाख रुपये+ GST की रकम जमा करानी होगी।इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के प्रसारण अधिकार फिलहाल स्टार इंडिया (इसे बाद में डिज्नी ने खरीद लिया) के पास हैं। इससे पहले 2008-2017 तक IPL के प्रसारण अधिकार सोनी के पास थे। पहली बार 2015-2017 के लिए हॉटस्टार को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर मैच प्रसारित करने के अधिकार मिले थे।

नीलामी जीतना प्रतिष्ठा का सवाल
ब्लूमबर्ग ने अपनी रिपोर्ट में पॉकेट एसेस डिजिटल एंटरटेनमेंट स्टार्टअप की को-फाउंडर और CEO अदिति श्रीवास्तव के हवाले से लिखा है, ‘नीलामी जीतना प्रतिष्ठा का सवाल है। इसलिए रिलायंस, ऐमजॉन और अन्य प्लेयर्स अपनी पूरी ताकत लगा देंगे। ऐमजॉन और रिलायंस को वॉल्ट डिज्नी और सोनी पिक्चर्स-जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज से भी बोली के लिए कड़ी टक्कर मिल सकती है। IPL मीडिया राइट्स हासिल करने के लिए बोली 50,000 करोड़ के पार जा सकती है।

तेजी से पॉपुलर हो रही लाइव क्रिकेट स्ट्रीमिंग
क्रिकेट की लाइव स्ट्रीमिंग भारत में तेजी से पॉपुलर हो रही है। ये देश के 1.4 अरब लोगों तक पहुंचने का एक प्रभावी तरीका बन गया है। IPL भारत में साल का सबसे बड़ा व्यूअरशिप इवेंट है। ऐसे में जो भी लाइव स्ट्रीमिंग के राइट्स जीतेगा उसे पांच साल तक हर साल लगातार 6 हफ्तों के लिए ज्यादा से ज्यादा ऑडियंस रीच मिलेगी।

7 अरब डॉलर के लगेंगे दांव
12 जून से शुरू होने वाले इस इवेंट में 7 अरब डॉलर या उससे अधिक के दांव लग सकने की संभावना है। 2023 और 2027 के बीच इंडियन प्रीमियर लीग के दर्जनों मैच दिखाने के अधिकार, अलग-अलग क्षेत्रों में लाइवस्ट्रीमिंग और प्रसारण के लिए विजेताओं का फैसला करने के लिए अलग-अलग नीलामी के साथ दांव पर हैं। ऐमजॉन नेशनल फुटबॉल लीग को ऑनलाइन दिखाने के अधिकारों के लिए प्रति वर्ष लगभग 1 अरब डॉलर का भुगतान कर रही है, लेकिन यह प्राइम वीकेंड गेम्स के बजाय गुरुवार की रात के खेल के लिए है।

अगर यह दौर सफल तो 5 साल तक विजेता के पास से कहीं नहीं गई ऑडियंस
क्रिकेट नीलामी भारत में बेहद ज्यादा रुचि पैदा कर रही है। लाइव स्ट्रीमिंग मैच देश के 1.4 अरब लोगों तक पहुंचने का एक प्रभावी तरीका है, जो अपने मोबाइल डिवाइस पर खेल देखते हैं और इसमें इजाफा हो रहा है। श्रीवास्तव का यह भी कहना है कि यदि मैचों की अधिकार बिक्री का यह दौर सफल रहा, तो विजेता पांच साल तक हर साल लगातार छह हफ्तों के लिए एक चौकस ऑडियंस को पकड़ लेगा। आईपीएल भारत में साल का सबसे बड़ा व्यूअरशिप इवेंट है।

रिलायंस-ऐमजॉन में पहले से तनातनी
भारत में रिलायंस इंडस्ट्रीज और ऐमजॉन पहले से फ्यूचर ग्रुप के रिटेल कारोबार बिक्री मामले में लड़ रही हैं। ऐसे में आईपीएल मैचों को लेकर बिडिंग दोनों कंपनियों के बीच तनाव को और गहरा करेगी। इसके अलावा रिलायंस और ऐमजॉन भारत के ई-कॉमर्स मार्केट में भी आमने सामने हैं।

Reliance-Future-Amazon dispute: बिग बाजार पर क्यों किया था रातोंरात ‘कब्जा’, मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बताई वजह



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here