दिग्गज उद्योगपति संजीव गोयनका और अंतर्राष्ट्रीय इक्विटी फर्म इरेलिया कंपनी पीटीई लिमिटेड (सीवीसी कैपिटल) ने सोमवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की दो नई टीमों के लिए कुल 12,715 करोड़ रुपये की बोली लगाई जो भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की उम्मीद से अधिक धनराशि है। बीसीसीआई को 2022 से आईपीएल में हिस्सा लेने वाली दो नई टीमों से 10 हजार करोड़ रुपये के आसपास की राशि मिलने की उम्मीद थी। गोयनका के आरपीएसजी समूह ने लखनऊ फ्रैंचाइजी के लिए 7,090 करोड़ रुपये की बोली लगाई जबकि सीवीसी कैपिटल ने अहमदाबाद टीम के लिए 5,625 रुपये खर्च किए। खबरों में पहले से ही कहा जा रहा था कि गोयनका फ्रेंचाइजी खरीदने के प्रबल दावेदारों में शामिल हैं। इससे पहले आईपीएल में दो साल 2016 और 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का स्वामित्व उनके पास था।

बीसीसीआई ने कहा, ‘ बीसीसीआई को सफल बोलीदाताओं (निश्चित दस्तावेज और अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने पर निर्भर) की घोषणा करने की खुशी है: पहला, आरपीएसजी वेंचर्स लिमिटेड- लखनऊ (7,090 करोड़ रुपये)। दूसरा, इरेलिया कंपनी पीटीई लिमिटेड (सीवीसी कैपिटल पार्टनर्स)- अहमदाबाद (5,625 करोड़ रुपये)।’ बोर्ड ने कहा कि आईपीएल के 2022 सत्र में 10 टीमें होंगी और 74 मैच खेले जाएंगे। प्रत्येक टीम घरेलू मैदान पर सात और विरोधी टीम के मैदान पर सात मुकाबले खेलेगी।

गोयनका को आईपीएल में वापसी करने की खुशी है और इस बाद पूर्णकालिक मालिक के रूप में। चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स पर स्पॉट फिक्सिंग के लिए प्रतिबंध लगने के बाद उन्हें अस्थाई तौर पर पुणे फ्रेंचाइजी को चलाने का मौका मिला था। उन्होंने कहा, ‘सबसे पहले तो मुझे आईपीएल में वापसी की खुशी है। लेकिन यह सिर्फ पहला कदम है। अब अच्छी टीम बनाना हम पर निर्भर करता है और हमें अच्छा प्रदर्शन करने का प्रयास करना होगा। कोच, टीम तैयार करने को देखते हुए असली काम अब शुरू होगा। आईपीएल ने इससे बड़े ब्रांड तैयार किए हैं। मुंबई इंडियन्स, दिल्ली कैपिटल्स, चेन्नई सुपर किंग्स को देखिए और कुछ अन्य को भी देखिए, वे आम बड़े नाम हैं, देश के सबसे बड़े ब्रांड में शामिल।’

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को खुशी है कि आईपीएल का विस्तार हो रहा है। उन्होंने बयान में कहा, ‘आईपीएल अब भारत के दो नए शहरों लखनऊ और अहमदाबाद में होगा। इतने अधिक मूल्यांकन पर दो नई टीमों को शामिल होते हुए देखना शानदार है और यह हमारे क्रिकेट पारिस्थितिकी तंत्र की क्रिकेट और वित्तीय मजबूती को दिखाता है। निविदा आमंत्रण (आईटीटी) में दिलचस्पी रखने वाले दो बोलीदाता भारत के बाहर से थे जो खेल संपत्ति के रूप में आईपीएल की वैश्विक अपील को दर्शाता है।’

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने भी दो नई कंपनियों का बोर्ड के साथ जुड़ने पर स्वागत किया।शाह ने कहा, ‘यह हम सभी के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है और मैं औपचारिक रूप से आरपीएसजी वेंचर्स लिमिटेड और इरेलिया कंपनी पीटीई लिमिटेड का आईपीएल में स्वागत करता हूं। हमने वादा किया था कि आईपीएल 15वें सत्र से बड़ा और बेहतर होगा और लखनऊ तथा अहमदाबाद के साथ हम लीग को भारत के अन्य हिस्सों में ले जाएंगे।’

यह लगभग सात घंटे की प्रक्रिया थी जिसमें बीसीसीआई ने गहन जांच के बाद विजेताओं की घोषणा की। इसमें वित्तीय बोली दस्तावेजों को खोलने के बाद तकनीकी जांच भी शामिल थी। तकनीकी जांच के बाद अंतिम दौर की बोली लगाने की पात्र कंपनियां आरपीएसजी, अडानी समूह, एचटी मीडिया प्राइवेट लिमिटेड, टोरेंट फार्मा, ओरबिंदो फार्मा, आल कार्गो, सीवीसी, कनसोर्टियम (समूह) वाला कोटक समूह और मैनचेस्टर यूनाईटेड के स्वामित्व वाले ग्लेजर्स अपनी इक्विटी फर्म के जरिए थे।



Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here