नई दिल्ली: भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने बुधवार को यहां वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज में अजेय बढ़त बनाने के बाद अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन की सराहना की और साथ ही सूर्यकुमार यादव और केएल राहुल के बीच 91 रन की साझेदारी को अहम करार दिया. रोहित ने सूर्यकुमार और राहुल को इस मैच का असली हीरो माना है. 

इन्हें माना मैच का असली हीरो

बतौर पूर्णकालिक कप्तान रोहित की यह पहली सीरीज जीत है. वेस्टइंडीज को दूसरे वनडे में 44 रन से शिकस्त देने के बाद रोहित ने कहा, ‘सीरीज जीतना हमेशा अच्छा अहसास होता है, इसमें कोई शक नहीं. आज हमने कुछ चुनौतियों का सामना किया और इनसे निपटते हुए सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया जो महत्वपूर्ण था.’ शीर्ष क्रम के चरमराने के बाद सूर्यकुमार (64) और राहुल (49) के बीच साझेदारी के बारे में उन्होंने कहा, ‘हमें इसी परिपक्वता की जरूरत है. सम्मानजनक स्कोर के लिये यह अहम थी.’

सूर्यकुमार की जमकर तारीफ

रोहित ने कहा, ‘पूरी टीम ने एकजुट होकर प्रदर्शन किया. इन खिलाड़ियों के लिए ऐसी परिस्थितियों में बल्लेबाजी करना महत्वपूर्ण है. तभी आप उन्हें पहचान सकते हो. आज की पारी सूर्यकुमार का आत्मविश्वास बढ़ाएगी. पिच पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं था. उसने बल्लेबाजी की और जो टीम चाहती थी वो किया. राहुल ने भी और अंत में दीपक हुड्डा ने भी.’

पंत से इसलिए कराई ओपनिंग

ऋषभ पंत को पारी का आगाज कराने पर उन्होंने कहा, ‘मुझसे कहा गया कि कुछ अलग करो, इसलिए यह अलग था. लोग ऋषभ को पारी शुरू करते हुए देखकर खुश होंगे लेकिन हां, यह स्थाई नहीं है. अगले मैच में हमारे पास शिखर धवन होंगे.’ रोहित ने साथ ही कहा, ‘भाग्यशाली रहे कि ओस नहीं थी. मैं गेंदबाजों से उनका श्रेय नहीं छीन रहा, खासकर प्रसिद्ध कृष्णा से.     

‘प्लेयर ऑफ द मैच’ रहे प्रसिद्ध कृष्णा ने नौ ओवर में तीन मेडन से 12 रन देकर चार विकेट झटके. कृष्णा ने कहा, ‘लंबे समय से ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद कर रहा था. लेकिन खुश हूं कि आज ऐसा हुआ और हमने मैच जीता. मैं सिर्फ सही क्षेत्र में गेंदबाजी करने की कोशिश कर रहा था.’ उन्होंने कहा, ‘जब मैं बल्लेबाजी के लिए गया तो भी गेंद सीम से हरकत कर रही थी, इसलिए मैं जानता था कि इसमें मेरे लिए कुछ है. मैं कसी और सरल गेंदबाजी करना चाहता था कि गेंद अपना काम करे. जहां तक संभव हो निरंतर रहना चाहता था. अच्छी लेंथ से गेंदबाजी करना चाहता था.’

वेस्टइंडीज के कार्यवाहक कप्तान निकोलस पूरन ने कहा, ‘हम साझेदारियां नहीं बना पाए और लगातार विकेट गंवाते रहे. हम साथ में जितना क्रिकेट खेलेंगे, उम्मीद करते हैं कि उससे बेहतर बल्लेबाज बनेंगे.’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here