नई दिल्ली. वेस्टइंडीज की टीम भारत दौरे पर आने वाली है. दोनों देशों के बीच 6 फरवरी से 3 वनडे और 16 फरवरी से इतने ही टी20 की सीरीज खेली जाएगी. लेकिन इस दौरे से पहले ही कायरान पोलार्ड (Kieron Pollard) की अगुवाई वाली वेस्टइंडीज ने लिमिटेड ओवर क्रिकेट में टीम इंडिया (Team India) के नए कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की टेंशन बढ़ा दी है. इसकी वाजिब वजह भी है. टी20 रैंकिंग में 10वें स्थान पर काबिज वेस्टइंडीज ने एक दिन पहले ही टी20 की नंबर-1 टीम इंग्लैंड को 5 टी20 की सीरीज में 3-2 से हरा दिया. इस सीरीज के दौरान ही वेस्टइंडीज की टीम में दो फाड़ की खबरें आईं. लेकिन इसका टीम के प्रदर्शन पर कोई असर नहीं पड़ा और इस साल की शुरुआत में अपने से कमजोर आयरलैंड से वनडे सीरीज गंवाने वाली वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को चारों खाने चित कर दिया.

इस जीत के साथ ही कायरान पोलार्ड (Kieron Pollard) की कैरेबियाई टीम ने भारत के लिए भी खतरे की घंटी बजा दी है. हालांकि, वेस्टइंडीज के भारत दौरे की शुरुआत एकदिवसीय मुकाबलों से होनी है. लेकिन इस साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2022) को देखते हुए दोनों टीमों के बीच 16 फरवरी से होने वाली टी20 सीरीज की अहमियत ज्यादा है.

इस फॉर्मेट में वेस्टइंडीज की टीम की ताकत का नमूना इंग्लैंड के खिलाफ हालिया सीरीज में नजर आ चुका है. भले ही पिछले साल यूएई और ओमान में हुए टी20 विश्व कप में वेस्टइंडीज की टीम डिफेंडिंग चैम्पियन जैसा नहीं खेली. लेकिन कैरेबियाई टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ बिल्कुल चैम्पियन जैसा खेल दिखाया. ऐसे में नए भारतीय कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को वेस्टइंडीज टीम की ताकत का तोड़ निकालना होना है.

वेस्टइंडीज की सबसे बड़ी ताकत मैच विनर खिलाड़ी
वेस्टइंडीज टीम की पहली या सबसे बड़ी ताकत है, मैच विनर खिलाड़ियों की लंबी फौज. इंग्लैंड के खिलाफ हालिया टी20 सीरीज में यह नजर भी आया. इंग्लैंड के खिलाफ पांचों टी20 में वेस्टइंडीज के अलग-अलग बल्लेबाज टॉप स्कोरर रहे. आखिरी टी20 में जहां कप्तान पोलार्ड ने सबसे अधिक 41 रन की पारी खेली तो पहले टी20 में ओपनर ब्रैंडन किंग ने फिफ्टी जड़ी और टीम को जीत दिलाई.

गेंदबाजी टीम की दूसरी सबसे बड़ी ताकत
दूसरी ताकत, टीम के गेंदबाज हैं. जब भी इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने सीरीज में कैरेबियाई टीम को दबाव में लाने की कोशिश की. अलग-अलग गेंदबाज टीम के लिए हीरो बनकर उभरे. चौथे टी20 में जेसन होल्डर की गेंद पर मोईन अली ने लगातार 4 छक्के जड़े थे. उन्हीं, होल्डर ने आखिरी टी20 में लगातार 4 गेंदों पर 4 विकेट लेकर इतिहास रच दिया. इंग्लैंड के गेंदबाजों ने जहां पूरी सीरीज में 23 विकेट लिए. वहीं, कैरेबियाई गेंदबाजों ने इससे करीब दो गुना 43 विकेट झटके. ऐसे में रोहित शर्मा को कैरेबियाई टीम में मौजूद मैच विनर खिलाड़ियों को ध्यान में रखकर रणनीति बनानी होगी.

भले ही भारत-वेस्टइंडीज के बीच वनडे सीरीज पहले खेली जाएगी. लेकिन, जिस तरह इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में वेस्टइंडीज के गेंदबाजों और बल्लेबाजों ने प्रदर्शन किया, वो वनडे सीरीज में भी टीम इंडिया का खेल बिगाड़ सकते हैं.

पोलार्ड का अनुभव टीम के काम आ रहा
वेस्टइंडीज की टीम की दूसरी सबसे बड़ी ताकत है टीम के कप्तान कायरान पोलार्ड. इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के दौरान पोलार्ड की कप्तानी को लेकर सवाल उठ रहे थे. लेकिन रविवार को आखिरी टी20 में इंग्लैंड पर मिली जीत, यह याद दिलाने के लिए काफी है कि 577 टी20 मैच खेलने वाले खिलाड़ी को हल्के में नहीं लिया जा सकता है. पोलार्ड ने सीरीज में दो मैच लक्ष्य का पीछा करके जीतने के बावजूद आखिरी मुकाबले में पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. उनका यह दांव काम कर गया.

रोहित से ज्यादा बेहतर पोलार्ड को कौन जानता होगा. दोनों मुंबई इंडियंस में लंबे वक्त तक साथ खेले हैं. ऐसे में रोहित को कप्तानी के मामले में पोलार्ड से एक कदम आगे रहना होगा.

U19 WC: CRPF जवान के बेटे ने भारत को सेमीफाइनल में पहुंचाया, खुश पिता बोले- कल मुझे कोई नहीं जानता था और अब सारे साहब…

वेस्टइंडीज की बल्लेबाजी सुधरी
वेस्टइंडीज की तीसरी ताकत या खूबी, जो इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में उभरकर सामने आई है, वो है बल्लेबाजी. पिछले साल टी20 विश्व कप में जहां वेस्टइंडीज के बल्लेबाज बड़े शॉट्स लगाने के चक्कर में आउट हो रहे थे. वहीं, इंग्लैंड के खिलाफ 5 टी20 की सीरीज में कैरेबियाई बल्लेबाजों ने इंग्लैंड के 45 के मुकाबले 51 छक्के लगाए. इतना ही नहीं, इस सीरीज में बीच के ओवर में वेस्टइंडीज के बल्लेबाज स्ट्राइक रोटेट करने के मामले में वे इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर बीस साबित हुए.

विराट कोहली ने दिलाया फ्लैट, एमएस धोनी ने बुलाया मुंबई, छोटी उम्र में बड़े कमाल दिखाने वाली पूजा क्‍या रवि बिश्‍नोई की बहन है? 

इसका सबूत है बीच के ओवर में दोनों टीमों के डॉट बॉल खेलने से जुड़े आंकड़े. इंग्लैंड के 251 के मुकाबले वेस्टइंडीज ने पूरी सीरीज में 220 डॉट गेंद खेली. ऐसे में भारत के खिलाफ भी वेस्टइंडीज के बल्लेबाज ऐसे ही खेलते नजर आ सकते हैं और भारतीय स्पिनर हाल के दिनों में बीच के ओवर में विकेट निकालने में नाकाम रहे हैं. दक्षिण अफ्रीका दौरा इस बात का सबूत है. ऐसे में रोहित शर्मा को वेस्टइंडीज की इस ताकत का तोड़ निकालना होगा.

Tags: India vs west indies, Kieron Pollard, Rohit sharma, West indies

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here