नई दिल्ली: भारतीय टीम के पूर्व ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के साथ अपने रिश्तों पर खुलकर बात की है। हरभजन ने कहा है कि धोनी से उन्हें कोई शिकायत (Harbhajan and Dhoni Relations) नहीं है। उन्होंने कहा कि धोनी इतने बरसों से उनके अच्छे दोस्त (Dhoni Harbhajan Friends) रहे हैं।

41 वर्षीय हरभजन ने पिछले साल 24 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास (Harbhajan Singh Retirement) की घोषणा की थी। हरभजन ने भारत के लिए अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मुकाबला 2016 में खेला था।

हरभजन ने साधा सिलेक्टर्स पर निशाना
विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे हरभजन को लगता है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI Support Harbhajan Singh) की ओर से उन्हें सपॉर्ट नहीं मिला जिसकी वजह से उनका करियर पटरी से उतर गया। उन्होंने कहा कि वह उस समय अच्छी शेप में थे और लय में गेंदबाजी कर रहे थे।

हरभजन से जब पूछा गया कि क्या उन्हें महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को लेकर कोई शिकायत है तो उन्होंने कहा, ‘नहीं, बिलकुल नहीं। मुझे महेंद्र सिंह धोनी से कोई शिकायत नहीं है। बल्कि, हम दोनों इतने साल से अच्छे दोस्त रहे हैं। मुझे BCCI से शिकायत है। जिसे मैं उस समय की सरकार कहता हूं। उस समय के सिलेक्टर्स ने अपने काम के साथ न्याय नहीं किया। उन्होंने टीम में एकता नहीं रहने दी।’

हरभजन ने कहा, ‘जब पुराने और महान खिलाड़ी टीम में थे और अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे तो नए लड़कों को टीम में लाने की क्या जरूरत थी? एक बार मैंने सिलेक्टर्स से इस बात का विरोध किया था और मुझे जवाब मिला था कि ‘यह हमारे हाथ में नहीं है’ मैंने उनसे कहा था कि आप फिर सिलेक्टर क्यों हैं।’

हरभजन ने न्यूज18 के साथ बातचीत में रिटायरमेंट के बाद अपने कॉमेंट पर कहा, ‘देखिए, हर किसी ने उस बात को अलग तरीके से लिया। मैं बस यह कहना चाहता था कि 2012 के बाद बहुत सी चीजें बेहतर हो सकती थीं। वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag), मैं, युवराज सिंह (Yuvraj Singh), गौतम गंभीर (Gautam Gambhir), सभी भारत के लिए खेलते हुए रिटायर हो सकते थे चूंकि हम सब आईपीएल (IPL) में सक्रिय रूप से खेल रहे थे। 2011 वर्ल्ड कप के चैंपियन (2011 World Cup Champions) खिलाड़ी फिर कभी साथ नहीं खेले! क्यों! उनमें से सिर्फ कुछ ही 2015 के वर्ल्ड कप में खेले, क्यों?’

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here