Image Source : GETTY
बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष के तौर पर चुनौतीपूर्ण 26 महीनों के अंदर कई तरह की आलोचनाओं का सामना किया जिसमें उन्हें कोविड-19 के कारण पैदा हुई परेशानियों से तो रूबरू होना ही पड़ा लेकिन उन पर चयनकर्ताओं को प्रभावित करने और अपने कार्यकाल में महिला क्रिकेट के लिये ज्यादा कुछ नहीं करने के आरोप भी लगे। लेकिन पीटीआई को दिये विशेष साक्षात्कार में पूर्व भारतीय कप्तान ने खुद पर लगे आरोपों को ही खारिज नहीं किया बल्कि अपने आलोचकों को भी याद दिलाया कि बीसीसीआई अध्यक्ष बनने से पहले मशहूर क्रिकेटर थे और 424 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके थे जिसमें 113 टेस्ट शामिल थे।

विराट कोहली के कप्तानी कार्यकाल को लेकर हुए ड्रामा से दूर रहते हुए गांगुली ने अन्य संवेदनशील मुद्दों पर पूछे सवालों के जवाब दिये जैसे हाल में रणजी ट्राफी की दो चरण में बहाली की घोषणा, भारत के नये टेस्ट कप्तान पर फैसले के इंतजार और महिला इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की शुरूआत। उन्होंने यह भी खुलासा किया कि इस महीने कोलकाता में भारत और वेस्टइंडीज के बीच T20I मैच दर्शकों के बिना कराये जायेंगे और जब उनसे बोर्ड सचिव जय शाह से संभावित मतभेद की अटकलबाजी के बारे में पूछा गया तो वह हंस पड़े।

गांगुली से जब पूछा गया कि वह चयन समिति को प्रभावित कर रहे हैं और चयनकर्ताओं पर दबाव डालने के लिये बैठकों में हिस्सा लेते हैं तो उन्होंने कहा,”मुझे नहीं लगता कि मुझे किसी को इस पर जवाब देने की जरूरत है और इन आधारहीन आरोपों में से किसी को अहम बनाने की जरूरत है। मैं बीसीसीआई अध्यक्ष हूं और बीसीसीआई अध्यक्ष को जो काम करना चाहिए, वह करता हूं। और आपको यह भी बता दूं, मैंने सोशल मीडिया पर एक फोटो देखी जिसमें मुझे चयन समिति की बैठक में बैठे हुए दिखाया जा रहा था। मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि यह फोटो (जिसमें गांगुली, जय शाह, कप्तान विराट कोहली और संयुक्त सचिव जयेश जॉर्ज बैठे हैं) चयन समिति की बैठक की नहीं थी। जयेश जॉर्ज चयन समिति का हिस्सा नहीं हैं। मैं भारत के लिये 424 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुका हूं। कभी कभार लोगों को यह दिलाने का विचार बुरा नहीं है।”

जय शाह के साथ रिश्तों पर गांगुली ने तोड़ी चुप्पी

बीसीसीआई में पिछले 26 महीनों में काम करते हुए जय शाह के साथ रिश्तों पर गांगुली ने कहा, “जय के साथ मेरा शानदार रिश्ता है। वह अच्छा मित्र है और विश्वासपात्र सहयोगी है। मैं, जय, अरूण (धूमल) और जयेश (जॉर्ज) हम इन दो वर्षों में विशेषकर कोविड-19 के मुश्किल दौर में बोर्ड को आगे ले जाने में मिलकर काम कर रहे हैं। यह सुनिश्चित करने के लिये क्रिकेट खेला जाये। मैं कहूंगा कि ये दो साल शानदार रहे। हमने बतौर टीम ऐसा किया है।”

नए टेस्ट कप्तान को लेकर बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा, “निश्चित रूप से, कप्तानी के कुछ मानदंड हैं और जो भी इनमें फिट बैठेगा, वह अगला भारतीय टेस्ट कप्तान होगा। मेरा मानना है कि चयनकर्ताओं के दिमाग में एक नाम होगा और वे अधिकारियों – अध्यक्ष और सचिव – के साथ इस पर चर्चा करेंगे और आने वाले समय में इसकी घोषणा करेंगे।

अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा के श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में खेलने को लेकर असमंजस की स्थिति है क्योंकि गांगुली ने कहा था कि दोनों रणजी ट्रॉफी में खेलेंगे। इसके जवाब में गांगुली ने कहा, “मेरा मतलब था कि वे रणजी ट्राफी खेलेंगे क्योंकि यह श्रीलंका सीरीज से पहले शुरू होगी। इसके बाद चयनकर्ता फैसला करेंगे। रणजी ट्राफी एलीट ग्रुप फरवरी के तीसरे हफ्ते में शुरू होंगे और श्रीलंका टेस्ट मार्च में हैं। यह पूरी तरह से चयन समिति का फैसला होगा, वे जो भी फैसला करें।

कब होगी हार्दिक की वापसी

हार्दिक पंड्या की भारतीय टीम में वापसी पर गांगुली ने कहा, “हार्दिक चोटिल था और उसे पूरी तरह से उबरने के लिये ब्रेक दिया गया था ताकि वह भारतीय क्रिकेट के लिये लंबे समय तक खेल सके। मुझे लगता है कि मैं उसे रणजी ट्राफी में कुछ मैच खेलते हुए देखूंगा। मैं उससे काफी ज्यादा ओवर गेंदबाजी करने की उम्मीद करता हूं जिससे उसका शरीर मजबूत होगा। साथ ही अब वह अहमदाबाद आईपीएल का कप्तान है और यह ऐसा मंच होगा जिसमें चयकनर्ता उसकी फॉर्म और फिटनेस को देख लेंगे। इसी के अनुसार वे फैसला करेंगे।”



Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here