Home IPL 1000वां वनडे: मध्यक्रम पर फोकस, रोहित-द्रविड़ के साथ भारत की निगाहें वनडे...

1000वां वनडे: मध्यक्रम पर फोकस, रोहित-द्रविड़ के साथ भारत की निगाहें वनडे में नयी रणनीति पर

0
26

कमजोर दक्षिण अफ्रीकी टीम के खिलाफ उसकी सरजमीं पर हार झेलने के बाद भारतीय टीम अब नये वनडे कप्तान रोहित के साथ जीत की लय में आना चाहेगी जिसमें उनके साथ कोच राहुल द्रविड़ भी शामिल हैं। ‘रोहित-द्रविड़’ की जोड़ी अगले कुछ महीनों में 50 ओवर प्रारूप के लिये भारतीय टीम की रणनीति तय करेगी क्योंकि यह स्पष्ट हो गया है कि सुधार के लिये थोड़े फेरबदल की जरूरत है।

अहमदाबाद। नये कप्तान रोहित शर्मा की मौजूदगी में भारतीय टीम रविवार को यहां वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रही वनडे श्रृंखला के साथ नये युग में प्रवेश करेगी जिसमें वह अपनी पुरानी ‘मध्यक्रम की समस्या’ से निजात पाने की कोशिश करेगी। श्रृंखला का शुरूआती मैच भारत के लिये ऐतिहासिक 1000वां वनडे होगा। भारतीय टीम 2023 विश्व कप के लिये अपनी तैयारियां अभी से शुरू करना चाहेगी जिसमें वह 2015 और 2019 में ट्राफी हासिल नहीं कर सकी थी और अब वह अपनी रणनीति में वास्तव में बदलाव करना चाहेगी। कमजोर दक्षिण अफ्रीकी टीम के खिलाफ उसकी सरजमीं पर हार झेलने के बाद भारतीय टीम अब नये वनडे कप्तान रोहित के साथ जीत की लय में आना चाहेगी जिसमें उनके साथ कोच राहुल द्रविड़ भी शामिल हैं। ‘रोहित-द्रविड़’ की जोड़ी अगले कुछ महीनों में 50 ओवर प्रारूप के लिये भारतीय टीम की रणनीति तय करेगी क्योंकि यह स्पष्ट हो गया है कि सुधार के लिये थोड़े फेरबदल की जरूरत है। इसलिये रविवार से शुरू हो रही श्रृंखला जूझ रहे मध्यक्रम को सही करने पर ध्यान लगाने के लिये बिलकुल सही मंच होगी। पहले तो कप्तान रोहित को उदाहरण पेश करके अगुआई करनी होगी जो सफेद गेंद के बेहतरीन बल्लेबाज हैं। पहले मैच में केएल राहुल की अनुपस्थिति और अन्य विशेषज्ञ सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और रूतुराज गायकवाड़ के कोविड-19 पॉजिटिव पाये जाने के बाद रोहित के साथ ईशान किशन पारी का आगाज करेंगे जिन्हें टीम में शामिल किया गया है। रोहित ने श्रृंखला के शुरूआती मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘हमारे पास ईशान किशन एकमात्र विकल्प हैं और वह मेरे साथ पारी का आगाज करेंगे। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मयंक (अग्रवाल) को टीम में शामिल किया गया था, पर वह अब भी पृथकवास में हैं। वह देर से टीम से जुड़े और हमारे कुछ नियम हैं। अगर कोई यात्रा करता है तो हम उसे तीन दिन के अनिवार्य पृथकवास में रखते हैं। उनका पृथकवास अभी पूरा नहीं हुआ है इसलिये ईशान पारी का आगाज करेंगे।’’ 

इसे भी पढ़ें: कई तरह की आलोचनाओं का सामना कर रहे सौरव गांगुली ने दिया बड़ा बयान

अगर रोहित लय में हों तो किसी भी दिन किसी भी तरह के गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ा सकते हैं और वेस्टइंडीज का आक्रमण भी अपवाद नहीं होगा। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ श्रृंखला में ऋषभ पंत की दूसरे मैच में पारी को छोड़ दें तो तीनों मुकाबलों में मध्यक्रम पूरी तरह से चरमरा गया और अब जरूरत है कि मध्यक्रम में प्रभावशाली खिलाड़ी मौजूद रहें। श्रृंखला के लिये श्रेयस अय्यर उपलब्ध नहीं हैं तो आक्रामक सूर्यकुमार यादव और साथ ही दीपक हुड्डा के पास भी राष्ट्रीय चयनकर्ताओं को लुभाने का मौका है। इन दोनों के अलावा काफी कुछ निर्भर करेगा कि विराट कोहली कैसा प्रदर्शन करते हैं। भारत ने दक्षिण अफ्रीका में मध्यक्रम में वेंकटेश अय्यर को आजमाया था लेकिन यह प्रयोग सफल नहीं रहा। गेंदबाजी की बात की जाये तो बायें हाथ के कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव वनडे टीम में वापस आ चुके हैं और पूरी उम्मीद है कि वह अपने अनुभवी जोड़ीदार युजवेंद्र चहल के साथ अंतिम एकादश में शामिल होंगे। सत्ताईस वर्षीय कुलदीप ने अपना अंतिम वनडे जुलाई 2021 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था और हाल में वह सर्जरी कराने के बाद उबरकर लौटे हैं। लेकिन टीम प्रबंधन ने युवा गेंदबाज रवि बिश्नोई को भी टीम में शामिल किया है और यह देखना दिलचस्प होगा कि जोधपुर में जन्में इस गुगली गेंदबाज को एक मैच मिलता है या नहीं। 

इसे भी पढ़ें: ईशान किशन मेरे साथ पारी का आगाज करेंगे क्योंकि वही एकमात्र विकल्प उपलब्ध हैं : रोहित शर्मा

मुख्य तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी (जिन्हें आराम दिया गया है) की अनुपस्थिति में गेंदबाजी इकाई की अगुआई की जिम्मेदारी ‘पालघर एक्सप्रेस’ शार्दुल ठाकुर को दिये जाने की उम्मीद है जिन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग टेस्ट में चमकदार प्रदर्शन किया था। ठाकुर के लिये टीम में अपना स्थान पक्का करने का यह बेहतरीन मौका है जिन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे श्रृंखला में बल्ले से भी अपनी प्रतिभा दिखायी थी। उनके साथ ही श्रृंखला में युवा गेंदबाज जैसे मोहम्मद सिराज, दीपक चाहर, प्रसिद्ध कृष्णा और आवेश खान के पास भी आगे आने और स्थायी दावा करने का मौका है क्योंकि विश्व कप में अब केवल दो साल का ही समय बचा है। वहीं वेस्टइंडीज की टीम इंग्लैंड के खिलाफ मनोबल बढ़ाने वाली टी20 श्रृंखला जीतने के बाद आयी है, हालांकि यहां प्रारूप अलग है। टीम में ‘पावर-हिटर’ निकोलस पूरन मौजूद हैं जो अकेले मैच का रुख बदल सकता है। इंडियन प्रीमियर लीग नीलामी से पहले वह फ्रेंचाइजी टीमों को भी लुभाने का प्रयास करेगा। हालांकि उसे दूसरे बल्लेबाजों के सहयोग की भी जरूरत होगी। साथ ही कप्तान कीरोन पोलार्ड और अनुभवी आल राउंडर जेसन होल्डर की भूमिका भी अंतर पैदा कर सकती है। पोलार्ड और उनकी टीम भारत के 1000वें वनडे में उसकी उम्मीदों को तोड़ने के लिये बेताब होगी। 

इसे भी पढ़ें: पहले वनडे में रोहित के साथ ओपनिंग करेंगे ईशान किशन, विराट पर ‘हिटमैन’ ने कही यह बड़ी बात

टीमें इस प्रकार हैं: 

भारत:  रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (उप कप्तान), मयंक अग्रवाल, रुतुराज गायकवाड़, शिखर धवन, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, श्रेयस अय्यर, ईशान किशन (विकेटकीपर), दीपक हुड्डा, ऋषभ पतं (विकेटकीपर), दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, वाशिंगटन सुंदर, रवि बिश्नोई, मोहम्मद सिराज, प्रसिद्ध कृष्णा और आवेश खान। 

वेस्टइंडीज: कीरोन पोलार्ड (कप्तान), फैबियन एलेन, एनक्रुमाह बोनर, डेरेन ब्रावो, शामार ब्रुक्स, जेसन होल्डर, शाई होप, अकील हुसैन, अलजारी जोसफ, ब्रैंडन किंग, निकोलस पूरन, केमार रोच, रोमारियो शेपर्ड, ओडियन स्मिथ, हेडन वाल्श जूनियर। मैच भारतीय समयानुसार एक बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Source by [author_name]

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here