भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव इस बार के अपने आईपीएल प्रदर्शन से बेहद निराश हैं। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ खेले गए एक मैच में मोईन अली ने उनके एक ओवर में 27 रन मारे। उन्होंने चार ओवर में 59 रन देकर एक विकेट लिया। इस प्रदर्शन के बाद उन्हें कोलकाता नाइट राइडर्स की प्लेइंग इलेवन से भी बाहर कर दिया गया था। कुलदीप यादव ने इस दौरान सकारात्मक बने रहने की बहुत कोशिश की, लेकिन नकारात्मकता उनके दरवाजा खटखटाती रही। 

कुलदीप यादव ने हिंदुस्तान टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में बताया, ”जब मेरे एक ओवर में 27 रन बने तो मैं बेहद निराश हुआ। मैं जानता था कि मैं मोईन को आउट कर सकता हूं। लेकिन मैं अपनी योजना का क्रियान्वित नहीं कर पाया। क्योंकि मैं उस समय बहुत भावुक हो गया था।” कुलदीप यादव ने आईपीएल 2019 के आठ मैचों में 71.50 की औसत से सिर्फ चार विकेट लिए। 

ICC World Cup 2019: ऋषभ पंत नहीं, ये दो खिलाड़ी ले सकते हैं केदार जाधव की जगह

कुलदीप यादव ने बताया कि इस दौरान महेंद्र सिंह धौनी ने मुझे एक मैसेज भेजा। उन्होंने लिखा मुझे आत्मविश्वास नहीं खोना है। मुझे अपने खेल पर फोकस करना चाहिए। इसने मेरी मदद की। धौनी भाई मेरे लिए हमेशा एक सपोर्ट पिलर की तरह हैं। विकेट के पीछे से वह हमेशा मेरी मदद करते हैं। 

कुलदीप ने कहा कि कुछ दिन पहले उनके हवाले से कहा गया था कि मैंने धौनी के सुझावों पर विपरीत टिप्पणी की थी। लेकिन ऐसा नहीं था। वह सिर्फ एक मजाक था। मैं धौनी भाई के बारे में ऐसा कभी नहीं कह सकता। 

कुलदीप ने कहा, ”टीम इंडिया हमारे लिए एक परिवार की तरह है।” मुश्किल दौर में कुलदीप को सपोर्ट करने वालों में उपकप्तान रोहित शर्मा भी शामिल हैं। मुंबई इंडियंस के खिलाफ एक मैच में रोहित उनके पास आए और उन्हें इंस्पायर किया।

कुलदीप ने यह भी सुनिश्चित किया कि आईपीएल में उनकी खराब फॉर्म विश्व कप 2019 में देखने को नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा, ”इसका मेरा वनडे प्रदर्शन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। वनडे मैच टी-20 से एकदम अलग होते हैं। आईपीएल के दौरान ब्रेक ने वास्तव में मेरी मदद की। मैं अपना आत्मविश्वास हासिल करने के लिए नेट पर कड़ी मेहनत कर रहा था। अब मेरा आत्मविश्वास वापस आया है।”

CWC2019: भुवनेश्वर कुमार ने भरी हुंकार, भारतीय गेंदबाजी को लेकर कही बड़ी बात

हालांकि, विश्व कप में कुलदीप का काम आसान नहीं होगा। फ्लैट ट्रैक पर इंग्लैंड में स्पिनर के लिए गेंदबाजी करना कठिन होता है। वहां की पिचें ईडंस गार्डन्स से अलग नहीं होंगी। कुलदीप कहते हैं, ”मेरी ताकत है गेंद को टर्न कराना। मैं बस यही करूंगा। मैं जानता हूं कि विकेट मेरी मदद नहीं करेगी। लेकिन मैं टर्न से बल्लेबाजों को चकमा देने की कोशिश करूंगा।”

बता दें कि पिछले साल ट्रेंट ब्रिज में कुलदीप यादव ने 25 रन देकर छह विकेट लिए थे। भारतीय टीम विश्व कप के लिए 22 मई को इंग्लैंड रवाना होगी। यहां भारत को 25 मई को न्यूजीलैंड के खिलाफ और 28 मई को बांग्लादेश के खिलाफ वार्मअप मैच खेलना है।

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here