स्टोरी हाइलाइट्स

  • जस्टिन लेंगर के इस्तीफे पर जारी है विवाद
  • सीनियर्स खिलाड़ी पर लगा है आरोप

एशेज़ सीरीज़ में मिली जीत के बाद भी ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लेंगर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. आरोप लग रहा है कि टीम के कुछ सीनियर खिलाड़ियों की वजह से ये इस्तीफा हुआ है. अब ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स एसोसिएशन (ACA) के CEO टॉड ग्रीनबर्ग ने मुख्य कोच जस्टिन लैंगर के इस्तीफे के लिए दोषी ठहराए जा रहे सीनियर टीम के खिलाड़ियों का बचाव करते हुए कहा कि वे कोई निर्णय नहीं लेते हैं.

यह व्यापक रूप से माना जाता है कि सीनियर खिलाड़ियों की राय लैंगर के पद छोड़ने के पीछे एक प्रमुख कारण था, उनके कार्यकाल में अभी भी पांच महीने बाकी थे. ग्रीनबर्ग ने सोमवार को सेल के ड्वेन वर्ल्ड शो में कहा कि मैंने खिलाड़ियों के बारे में कुछ टिप्पणियां सुनी हैं, मैं निश्चित रूप से उस सिद्धांत को नहीं मानता हूं. क्रिकेट टीम के नेतृत्व के आसपास के बड़े मुद्दों के बारे में खिलाड़ियों से परामर्श करना कोई नई घटना नहीं है, मुझे नहीं लगता कि इसमें कोई बड़ी बात है.

‘खिलाड़ियों को आवाज़ उठानी चाहिए’

उन्होंने आगे कहा कि मैंने क्रिकेट में अपने कम समय में लगातार कहा है कि खिलाड़ियों को आवाज उठानी चाहिए और उनसे सलाह लेनी चाहिए. क्रिकेट में कई अलग-अलग मुद्दों पर हमसे सलाह ली गई है जो मुझे अच्छा लगता है. लेकिन आखिरकार, खिलाड़ी भी जागरूक हैं कि वे एक बहुत बड़ी प्रणाली का हिस्सा हैं. लेकिन जब वे ये निर्णय लेते हैं तो हम उस निर्णय मौजूद नहीं होते हैं और न ही हमें होना चाहिए.

ग्रीनबर्ग ने स्वीकार किया कि खिलाड़ियों ने खुद को एक कठिन स्थिति में पाया, लेकिन टेस्ट कप्तान पैट कमिंस को अच्छा व्यक्ति बताया. कई पूर्व क्रिकेटरों, विशेष रूप से मिशेल जॉनसन ने लैंगर के भविष्य पर अपने निर्णय पर स्पष्ट नहीं होने के लिए कमिंस की आलोचना की थी.

पिछले कुछ दिनों में कमिंस ने सार्वजनिक रूप से यह कहने से परहेज किया था कि क्या वह लैंगर को कोच के रूप में जारी रखना चाहते हैं. उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि पैट और खिलाड़ियों दोनों को बहुत मुश्किल स्थिति में रखा गया था, जहां उन्हें कोच के प्रति दायित्व मिला है, लेकिन साथ ही उनके के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का ध्यान भी रखना था. 

 

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here