मुंबई: भारतीय टेस्ट टीम के पूर्व उपकप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) काफी समय से फॉर्म से जूझ रहे हैं। उन्होंने 2020 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट में शतक लगाया था। उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को मात भी दी, लेकिन उसके बाद से रहाणे का बल्ला पूरी तरह से शांत है। न्यूजीलैंड के खिलाफ नवंबर-दिसंबर में हुई टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में उन्हें टीम से ड्रॉप कर दिया गया। फिर दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले उनसे टेस्ट टीम की उपकप्तानी भी ले ली गई।

अब रहाणे 10 फरवरी से होने वाली रणजी ट्रॉफी में खेलने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन उससे पहले उन्हें एक और झटका लगा है। क्रिकबज की रिपोर्ट के अनुसार अजिंक्य रहाणे को रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) के लिए मुंबई टीम में तो जगह मिलेगी, लेकिन उन्हें पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की कप्तानी में खेलना पड़ेगा। टीम के कप्तान के रूप में शॉ को बनाए रखने का निर्णय सामूहिक रूप से चयन पैनल, कोच अमोल मुजुमदार और एसोसिएशन ने लिया। इस बारे में रहाणे का भी परामर्श लिया गया था।
Ranji Trophy: चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की निगाहें रणजी ट्रॉफी से टेस्ट करियर पटरी पर लाने पर
मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अधिकारी ने कहा, ‘अजिंक्य जैसे खिलाड़ी के लिए कप्तानी महत्वपूर्ण नहीं है, जिसने वह हासिल किया है जो एक क्रिकेट कप्तान के लिए असंभव माना जाता था। वह खेलने के साथ-साथ मेंटर के लिए और घरेलू क्रिकेट में मुंबई के गौरव को बहाल करने में मदद करने के लिए सहमत हुए हैं। उन्हें कप्तानी को लेकर कोई अहंकार नहीं है और उन्हें कप्तान के रूप में शॉ से कोई समस्या नहीं है।’

अजिंक्य रहाणे ने 6 टेस्ट में भारतीय टीम की कप्तानी की है और इसमें टीम चार मैच में जीती है, दो मैच ड्रॉ रहे। रहाणे एकमात्र भारतीय टेस्ट कप्तान हैं, जिन्हें 5 से ज्यादा मैच में कप्तानी करने के बाद भी हार नहीं मिली। रणजी ट्रॉफी में 41 बार की चैंपियन मुंबई की टीम को ग्रुप-डी में ओडिशा, सौराष्ट्रा और गोवा के साथ है। टूर्नामेंट के लिए जल्दी ही मुंबई टीम की घोषणा हो जाएगी। पहले रणजी ट्रॉफी की शुरुआथ 13 जनवरी से होनी थी, लेकिन कोरोना की वजह से टूर्नामेंट को स्थगित करना पड़ा था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here