Home IPL वेस्ट इंडीज के खिलाफ रोहित ने चहल को दी थी ज्यादा गुगली...

वेस्ट इंडीज के खिलाफ रोहित ने चहल को दी थी ज्यादा गुगली डालने की सलाह, लेग स्पिनर ने बताई अहम बात

0
32

वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले एकदिवसीय में चार विकेट लेने वाले युजवेन्द्र चहल ने कहा कि वेस्टइंडीज के बड़े शॉट खेलने वाले खिलाड़ियों ने जब खुल कर खेलना शुरू किया तो आप ने मुझे कहा था कि ‘मैं जितना अधिक गुगली करूंगा मेरा लेग स्पिन उतना प्रभावी होगा।

अहमदाबाद। वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले एकदिवसीय में चार विकेट लेने वाले युजवेन्द्र चहल ने अपने प्रदर्शन का श्रेय रोहित शर्मा को देते हुए कहा कि सीमित ओवर प्रारूप के नये कप्तान ने उनसे कहा था कि वह जितनी अधिक गुगली फेकेंगे उनकी लेग स्पिन उतनी अधिक प्रभावी होगी। तीन मैचों की श्रृंखला के पहले मैच को जीत कर भारत ने 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है। चहल ने ‘बीसीसीआई डॉट टीवी’ पर रोहित को दिये साक्षात्कार में कहा, ‘‘ हमने मैच से पहले बात की थी। मैच से पहले आपने जो बात कही, उसकी कमी मुझे दक्षिण अफ्रीका में महसूस हुई थी।  मैंने वहां ज्यादा गुगली नहीं फेंकी, इसलिए यह मेरे दिमाग में था।’’ 

इसे भी पढ़ें: हरियाणा के खिलाड़ी अब क्रिकेट में भी कर रहे देश व प्रदेश का नाम रोशन : मुख्यमंत्री 

उन्होंने कहा, ‘‘ वेस्टइंडीज के बड़े शॉट खेलने वाले खिलाड़ियों ने जब खुल कर खेलना शुरू किया तो आप ने मुझे कहा था कि ‘मैं जितना अधिक गुगली करूंगा मेरा लेग स्पिन उतना प्रभावी होगा।’ मैंने नेट सत्र में आपके खिलाफ ऐसी ही गेंदबाजी की थी और लगा कि इससे फायदा होगा।’’ चहल ने कहा कि जब वह राष्ट्रीय टीम में नहीं थे, तो उन्होंने अपने गेंदबाजी कोण बदलने पर काम किया। इस 31 साल के गेंदबाज ने कहा, ‘‘ मैंने अपने नजरिये में बदलाव किया, यहां की विकेट धीमी हैं। जब मैं टीम में नहीं था तो मैंने सोचा कि क्या सुधार किया जा सकता है। मैंने अन्य गेंदबाजों को देखा, जो इन विकेटों पर गेंदबाजी करने के लिए ‘साइड-आर्म’ अपनाते है। मैंने देखा कि जब मैं नेट पर गेंदबाजी करता हूं, तो गेंद तेजी से निकलती और कलाई की जरूरत होती है।’’ 

इसे भी पढ़ें: क्रिकेटरों की अगुआई में खेल जगत ने महान गायिका लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि दी 

हरियाणा के इस गेंदबाज ने रविवार को निकोलस पूरन को आउट कर एकदिवसीय में 100 विकेट पूरे किये। उन्होंने कहा कि यह उपलब्धि हासिल करना अच्छा है। उन्होंने कहा, ‘‘ यह अच्छा अहसास है (100 वनडे विकेट लेना)। मेरे पांच साल के करियर में उतार-चढ़ाव आए लेकिन यह अच्छा अहसास है कि आप किसी भी प्रारूप में 100 विकेट लेते हैं, जो बड़ी बात है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने कभी नहीं सोचा था कि यह इतनी जल्दी हो जाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Source by [author_name]

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here